पॉलीकैब के शेयर 1000 रुपये से ज्यादा टूटा, आयकर विभाग की छापेमारी 

मुंबई-इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट बनाने वाली कंपनी पॉलीकैब के शेयर मार्केट खुलते ही 20% लुढ़क गए। कारोबार के दौरान कंपनी का शेयर 20 परसेंट से भी ज्यादा गिरावट के साथ 3812.35 रुपये तक गिर गया था। सुबह 10.30 बजे यह 18.69% की गिरावट के साथ 3995.00 रुपये पर ट्रेड कर रहा था। इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 5,722.90 रुपये है जबकि न्यूनतम स्तर 2,651.15 रुपये है।  

कंपनी के शेयरों में आई गिरावट की वजह इनकम टैक्स विभाग की एक छापेमारी है। आयकर विभाग ने पॉलीकैब समूह के परिसरों पर छापा मारकर लगभग 1,000 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकद बिक्री का पता लगाया है। हाल में कंपनी के परिसरों पर छापा मारा गया था। इस कंपनी की शुरुआत 1964 में सिंध इलेक्ट्रिक स्टोर्स के रूप में हुई थी। 1966 में इसका नाम पॉलीकैब वायर्स प्राइवेट लिमिटेड किया गया और फिर 1998 में इसका नाम पॉलीकैब इंडस्ट्रीज कर दिया गया। 2018 में इसका नाम पॉलीकैब इंडिया कर दिया गया। 

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने बयान में कहा कि पिछले साल 22 दिसंबर को ग्रुप के खिलाफ छापेमारी शुरू करने के बाद चार करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी जब्त की गई है। साथ ही 25 से अधिक बैंक लॉकरों पर रोक लगाई गई है। ग्रुप के महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे, औरंगाबाद और नासिक, गुजरात में हलोल तथा दिल्ली समेत कुल 50 परिसरों में छापेमारी की गई थी।  

हालांकि सीबीडीटी के बयान में समूह का नाम नहीं बताया। पॉलीकैब इंडिया ने शेयर बाजारों को दी सूचना में मीडिया में चल रही कंपनी की कर चोरी की रिपोर्ट को अफवाह करार दिया। कंपनी ने कहा, ‘सभी नियमों के अनुपालन और पारदर्शिता को लेकर प्रतिबद्ध है। दिसंबर, 2023 में तलाशी कार्रवाई के दौरान आयकर विभाग के अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग किया गया था। सीबीडीटी ने कहा कि तलाशी के दौरान बड़ी संख्या में संदिग्ध दस्तावेज और डिजिटल आंकड़े जब्त किये गये। इनसे कुछ अधिकृत वितरकों की मिलीभगत से समूह द्वारा अपनाई गई कर चोरी के तौर तरीकों का पता चलता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *