टाटा की यह कंपनी ला रही है आईपीओ, 18 साल बाद समूह का पहला इश्यू 

मुंबई- आईपीओ में निवेश कर मुनाफा कमाने वालों के लिए एक बड़ा मौका आ रहा है। टाटा ग्रुप की एक कंपनी आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है। ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की दिग्गज कंपनी टाटा मोटर्स की सब्सिडियरी टाटा टेक्नोलॉजीज आईपीओ लॉन्च करने की तैयारी में है।  

टाटा टेक्नोलॉजीज एक ग्लोबल प्रोडक्ट इंजीनियरिंग और डिजिटल सर्विसेज कंपनी है। टाटा टेक्नोलॉजीज का फोकस ऑटोमोटिव, एरोस्पेस, इंडस्ट्रियल मशीनरी और इंडस्ट्रियल वर्टिकल में है। 

टाटा टेक्नोलॉजीज ने आईपीओ की लॉन्चिंग के लिए जरूरी शुरुआती कदम उठाना शुरू कर दिया है। कंपनी इलेक्ट्रिक वाहनों और एविएशन सेगमेंट में बढ़ी हुई मांग को भुनाना चाहती है। मामले से जुड़े कई इंडस्ट्री के सूत्रों ने मनीकंट्रोल को यह जानकारी दी। अगर टाटा टेक्नोलॉजीज अपना आईपीओ लाने में सफल रहती है, तो यह टीसीएस के बाद टाटा ग्रुप की ओर से पहला आईपीओ होगा। टीसीएस का आईपीओ साल 2004 में आया था। 

जब टीसीएस का आईपीओ आया था, उस समय रतन टाटा ही टाटा समूह के चेयरमैन थे। यह करीब 18 साल पुरानी बात है। साल 2017 में एन चंद्रशेखरन के टाटा संस के चेयरमैन बनने के बाद यह टाटा ग्रुप का पहला आईपीओ होगा। टाटा टेक्नोलॉजीज ने अभी केवल आईपीओ लाने की प्रक्रिया की शुरुआत की है। इस आईपीओ का साइज क्या होगा, इसकी जानकारी अभी नहीं आई है। इस आईपीओ की लॉन्चिंग में घरेलू बैंकों के साथ विदेशी बैंकों को भी शामिल किया जा सकता है। 

टाटा टेक्नोलॉजीज टाटा मोटर्स की सब्सिडियरी कंपनी है। टाटा मोटर्स की टाटा टेक्नोलॉजीज में 74 फीसद हिस्सेदारी है। वित्त वर्ष 2021-22 में टाटा टेक्नोलॉजीज का राजस्व 3529.6 करोड़ रुपये रहा था। इस दौरान ऑपरेटिव प्रॉफिट 645.6 करोड़ रुपये और टैक्स के बाद मुनाफा 437 करोड़ रुपये का था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.