डेढ़ करोड़ मिलेंगी नौकरियां, जानिए आप किसके लिए कर सकते हैं तैयारी 

मुंबई- जीवाश्म ईंधन (Fossil Fuel) से स्वच्छ ऊर्जा (Clean Energy) के उपयोग की ओर तेजी से बढ़ने से साल 2025 तक भारत में 1.5 करोड़ नौकरियों के अवसर पैदा हो सकते हैं। साथ ही बिजली बिल पर होने वाले खर्च की बचत बढ़ सकती है। जी-7 नेताओं के सम्मेलन से पहले गुरुवार को जारी एक नई रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।  

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत 2025 तक प्रति व्यक्ति बिजली पर आने वाले खर्च में आठ डॉलर या 10 फीसदी की कटौती कर सकता है। इसमें कहा गया है कि भारत में यह कटौती 2030 तक 34 डॉलर या 31 फीसदी और 2035 तक 74 डॉलर या 52 फीसदी होने का अनुमान है।

वहीं, नौकरियों के मामले में, रिपोर्ट में कहा गया है कि स्वच्छ ऊर्जा की ओर तेजी से बढ़ने से साल 2025 तक भारत में 1.5 करोड़ नौकरियों के अवसर पैदा हो सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकारों ने साल 2025 तक सभी जीवाश्म ईंधन सब्सिडी को खत्म करने के लिए इस साल राष्ट्रीय कार्य योजना बनाई है। 

इसमें जी-7 राष्ट्रों से घरेलू कोयला चालित ताप बिजली घरों को चरणबद्ध तरीके से 2030 तक बंद करने और तेजी से नवीकरणीय ऊर्जा का उपयोग बढ़ाने को कहा गया है, ताकि अगले आठ वर्षों में 70 फीसदी के लक्ष्य को हासिल किया जा सके। वी मीन बिजनेस कोलिशन की सीईओ मारिया मेंडीलुस ने कहा, ‘‘विश्व के लोगों को जलवायु और आर्थिक आपदा से बचाने के लिए हम जी-7 नेताओं से इस रिपोर्ट में जिक्र की गई नीतियों को लागू करने का आग्रह करते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.