जॉब दिलाने में रिज्यूमें की होती है महत्वपूर्ण भूमिका, जानिए कैसे आसान बायोडेटा बना सकते हैं  

मुंबई- आपका रिज्यूमे आपको नौकरी दिलाने में महत्वपूर्ण रोल अदा करता है। यह न केवल आवेदकों को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करता है, बल्कि कंपनी के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज के रूप में भी कार्य करता है। रिक्रूटर्स को उम्मीदवार का डेटा प्रस्तुत करने हेतु स्टैण्डर्ड फॉर्मेट के लिए बायोडेटा काम आसान बना देता है।  

आपका रेज्यूमे हायरिंग प्रक्रिया में कई मैनेजरों को भेजा जा सकता है। जब हार्ड कॉपी शेयर करने की बात होती है तो ज्यादा पेज की बजाय एक पेज का रिज्यूमे मैनेजर्स को शेयर करना आसान और ठीक होता है। ई-मेल अटैचमेंट के लिए, पाठक नीचे स्क्रॉल करने के बजाय पहले पृष्ठ पर ही जानकारी को पढ़ लेना पसंद करते हैं। सीधे शब्दों में कहें तो एक पेज का रिज्यूमे आपके पहले स्टेप में सफल होने की संभावना को बढ़ा देता है। अपने पहले ड्राफ्ट के लिए, एक मास्टर डॉक्यूमेंट बनाने के लिए सब कुछ लिख लें। 

एक बार जब आप अपनी सभी उपलब्धियों और अनुभवों को विस्तार से लिख लेते हैं, तब आप सिर्फ बड़ी और गिनी चुनी उपलब्धियों का ही जिक्र करें। आप जिस नौकरी के लिए आवेदन कर रहे हैं, उसके लिए अप्रासंगिक अनुभवों का उल्लेख न करें। सभी अतिरिक्त जानकारी आपके लिंक्डइन प्रोफाइल का हिस्सा हो सकती है जिस पर रीक्रूटर रेफर करेगा। 

आपको सभी उपलब्धियों को समेटने के लिए सिर्फ एक पेज होता है। इसलिए इसे बिल्कुल शॉर्ट एण्ड स्वीट रखें। आधे इंच का मिनिमम पेज मार्जिन रखें। फ़ॉन्ट की साइज 11 और एक सामान्य फ़ॉन्ट जैसे जॉर्जिया या एरियल हो। हेडर में अपने नाम के साथ अपना ईमेल और कॉन्टेक्ट डिटेल्स शामिल करें। 

अगर एक उचित लाइन स्पेसिंग और बुलेट पॉइंट है, जो प्रत्येक लाइन के कम से कम आधे हिस्से को कवर करते हैं तो यह आपको कंटेंट और व्हाइट खाली स्थान के बीच संतुलन प्रदान करेगा। इसे सर्च के जरिए उपलब्ध कराने के लिए अपने रिज्यूमे को एक पीडीएफ फॉर्मेट में अपने नाम के साथ फ़ाइल नाम के रूप में सहेज कर रखें। 

अपने एक पेज के रेज़्यूमे की एक कॉपी प्रिंट करें। ऊपर के एक तिहाई को फाड़ कर हटा दें और जांचें कि क्या यह आपको शॉर्टलिस्ट करने के लिए पर्याप्त है। एक रिक्रूटर, प्रारंभिक स्क्रीनिंग या शॉर्ट-लिस्टिंग के लिए औसतन प्रति रिज्यूमे केवल 6 सेकंड खर्च करता है। इसका मतलब यह है कि आपके एक पेज के रेज़्यूमे का ऊपर का एक तिहाई ही वह सब कुछ है जिसे रिक्रूटर पढ़ेगा और ध्यान देगा। जब तक आप उस सीमित स्थान में क्या उल्लेख करना है, इससे संतुष्ट नहीं हो जाते, तब तक अपने रेज़्यूमे पर काम जारी रखें। 

हमें ऊपर से नीचे तक पढ़ने और शुरुआत में एक हेड लाइन और सबसे महत्वपूर्ण सामग्री देखने की आदत होती है। इसी तरह, आपका रिज्यूमे “क्रीम ऑन टॉप” के नियम के तहत होना चाहिए। आपका पेशेवर अनुभव (professional experience) आपके अकादमिक (academics) अनुभव से पहले आना चाहिए। आपका हाल का अनुभव पुराने की तुलना में ज्यादा महत्वपूर्ण है। जब आप अपनी उपलब्धियों को एक रोल के भीतर बुलेट पॉइंट्स में डालते हैं, तो पाठक आपके द्वारा ऊपर रखे गए बुलेट पॉइंट्स को अधिक महत्व देगा और नीचे दिए गए बुलेट पॉइंट्स को अनदेखा कर देगा। 

हम बाएं से दाएं पढ़ते हैं और हम मानव का मस्तिष्क किसी लाइन की शुरुआत को अधिक महत्व देता है। बाद में जो आता है उसे अनदेखा कर देता है। इसलिए अपने बुलेट पॉइंट्स को इस प्रारूप में फ्रेम करें – “एक्शन-वर्ब”, “उपलब्धि”, “संदर्भ या कांटेक्स्ट”। इसके अलावा, बुलेट पॉइंट्स की शुरुआत में, ऐसे शब्दों का उपयोग करने से बचें, जिनके बारे में भर्ती करने वाले को जानकारी नहीं हो। 

अच्छी छाप छोड़ने के लिए आपके बुलेट पॉइंट में मेट्रिक्स होने चाहिए। संख्याओं का उपयोग करने से आपको उपलब्धियों को हाइलाइट करने में मदद मिलती है और भर्ती करने वाले को आपको बाकी लोगों से अलग करने दिखाता है। अंत में, कांटेक्स्ट के बिना संख्याएं बेमानी होती हैं और एक भर्ती करने वाले के लिए एक बेंचमार्क की आवश्यकता होती है। जैसे कि 54 छात्रों की एक कक्षा में अव्वल आने वाले को सीधा सीधा क्लास टॉपर कहा जा सकता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.