वैल्यूएशन ज्यादा होने पर डेट अलोकेशन निवेशकों के फायदे को स्थिरता प्रदान करता है- अमित गणात्रा, सीनियर फंड मैनेजर, एचडीएफसी एएमसी

मुंबई– मल्टी असेट जैसे असेट अलोकेशन प्रोडक्ट में डेट अलोकेशन का एक उद्देश्य रिटर्न की अस्थिरता में कमी लाना है। पिछले कुछ महीनों में इक्विटी वैल्यूएशन की री-रेटिंग ने इक्विटी अलोकेशन में कमी का संकेत दिया है। इसलिए जबकि डेट में रिटर्न कम है, डेट अलोकेशन अभी भी निवेशकों के रिटर्न को स्थिरता प्रदान करने के प्रयास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, खासकर जब वैल्यूएशन ज्यादा हो और रिटर्न की अस्थिरता अधिक हो।

एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर अमित गणात्रा से अर्थलाभ ने बातचीत की। पेश हैं उसी बातचीत के प्रमुख अंश। 

सवालएचडीएफसी मल्टी असेट फंड में विभिन्न असेट क्लास के अलोकेशन की रेंज क्या है?
जवाब: हाल फिलहाल की निवेश की रणनीति के अनुसार, इस स्कीम में टोटल असेट के 40% से 80% के बीच इक्विटी एक्सपोजर को अनहेज किया गया है। इक्विटी टैक्सैशन बेनेफिट को बनाए रखने के लिए कुल इक्विटी एक्सपोजर (हेज और अनहेज्ड दोनों) को 65% से ऊपर बनाए रखा जाता है। यह स्कीम कुल संपत्ति के 10% से 30% के बीच डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करती है। इसके अलावा, स्कीम गोल्ड से संबंधित इंस्ट्रूमेंट्स में कुल संपत्ति का 10% से 30% के बीच निवेश करती है।

सवाल- इक्विटी अलोकेशन कैसे निर्धारित किया जाता है?
उत्तर: यह स्कीम एक बड़े बैक टेस्टिंग के आधार पर तैयार किए गए प्रप्राइटेरी फाइनेंशियल मॉडल को उपयोग में लाती है। यह मॉडल 12 महीने के  प्राइस/अर्निंग अनुपात, 1 साल पहले के प्राइस/अर्निंग अनुपात, ट्रेलिंग प्राइस/बुक वैल्यू अनुपात, अर्निंग यील्ड/सरकारी प्रतिभूतियों आदि जैसे फ़ैक्टर्स पर विचार करके अनहेज्ड इक्विटी अलोकेशन के % को इंगित करता है। मॉडल द्वारा दर्शाई गई इक्विटी अलोकेशन सीमा 40% – 80% के बीच है। इसलिए यदि बीते सालों के प्रदर्शन की तुलना में सभी चार पैरामीटर में बाजार बहुत महंगे हैं तो यह मॉडल हमें 40% के करीब तक आने में मार्गदर्शन करेगा। मई 2021 तक, इस मॉडल के तहत अनहेज्ड इक्विटी अलोकेशन शुद्ध संपत्ति का 55% था।

सवाल- आप गोल्ड में अलोकेशन कैसे करते हैं ? 

उत्तर: इक्विटी के विपरीत, गोल्ड में मूल्यांकन मानकों (valuations parameters) के अनुसार असेट अलोकेशन का निर्णय करने के लिए अंतर्निहित आय (underlying earnings) नहीं होती है। इसे देखते हुए, हम सोने के अलोकेशन पर मार्गदर्शन देने के लिए TIPS (ट्रेजरी इन्फ्लेशन प्रोटेक्टेड सिक्योरिटीज) द्वारा इंगित सोने की कीमतों और वास्तविक ब्याज दरों के बीच संबंध पर विचार करते हैं।

सवाल- सेंसेक्स के 50 हजार को पार करने के साथ, क्या आपका अनहेज्ड इक्विटी अलोकेशन हाल ही में कम हुआ है? आपका वर्तमान असेट अलोकेशन क्या है?
उत्तर: हां, हमने अनहेज्ड इक्विटी अलोकेशन कम कर दिया है। हालांकि इक्विटी असेट अलोकेशन के संबंध में एक महत्वपूर्ण पॉइंट यह है कि यह बाजार वैल्यूएशन के साथ बदलता है, न कि केवल बाजार के स्तर के साथ। मई 2021 तक, हेज्ड इक्विटी अलोकेशन 55% के आसपास था, हेज्ड इक्विटी एक्सपोजर 12% था, डेट एक्सपोजर ~20% था और सोने से संबंधित साधनों के लिए अलोकेशन 11% था जबकि InvIT द्वारा जारी नेट असेट की यूनिट का अलोकेशन 2% था।

सवाल- क्या एचडीएफसी मल्टी असेट फंड में लार्ज कैप की ओर झुकाव होता है? यदि हां, तो उसका कोई कारण बताईए।
उत्तर: मल्टी असेट फंड बाजार पूंजीकरण में निवेश करता है, लेकिन वर्तमान में कुछ वजहें हैं जिनके कारण यह लार्ज कैप की ओर झुकाव रखता है. 

(ए) इंडस्ट्री कन्सालिडेशन के लाभार्थी:  पिछले कुछ वर्षों में हमने उद्योगों में बाजार हिस्सेदारी के कन्सालिडेशन को अच्छी तरह से देखा है, जिससे बड़े पैमाने पर प्रॉफ़िट के साथ बड़े प्रभावशाली व्यवसायों का एक मजबूत निवेश तर्क (strong investment argument) पैदा हुआ है। हालांकि कुछ क्षेत्रों में प्रमुख व्यवसायों के रूप में मिड कैप और स्मॉल कैप भी हैं, पर लार्ज कैप की बात ही कुछ और है।
(बी) रिस्क मैनेजमेंट : चूंकि एचडीएफसी मल्टी एसेट फंड कन्सर्वटिव निवेशकों को ध्यान में रखकर काम करता है अतः यह फंड कम अस्थिरता (less volatility) के साथ स्थिर रिटर्न प्रदान करने के इरादे से भी लार्ज कैप पर भरोसा करता है।
(सी) हेजिंग में आसानी: एफ एंड ओ सेगमेंट में उनकी उपस्थिति के कारण – हेज स्थापित करना आसान होता है जिससे डायनमिक असेट अलोकेशन में सहायता मिलती है।

सवाल- एक निवेशक को एक बैलेंस्ड एडवांटेज फंड या एक हाइब्रिड इक्विटी फंड बनाम एक मल्टी असेट फंड का मूल्यांकन कैसे करना चाहिए? 

उत्तर: इन दो कैटेगरी के बीच मुख्य अंतर ओवरऑल असेट अलोकेशन के हिस्से के रूप में गोल्ड को शामिल करने का होता है। बाजार में उतार-चढ़ाव की अवधि के दौरान इक्विटी कॉम्पोनेन्ट को हेज करने के लिए गोल्ड और डेरिवेटिव के उपयोग को शामिल करने से एचडीएफसी मल्टी असेट फंड एक निवेशक के लिए एक उपयुक्त निवेश अवसर बन जाता है, जो 3 असेट क्लास के लिए एक्सपोजर प्रदान करने के लिए एक सिंगल प्रोडक्ट की तलाश करता है । इसमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल होते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *