दो घंटे से कम की फ्लाइट में अब खाना नहीं मिलेगा

मुंबई– कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नागरिक विमानन मंत्रालय ने कम अवधि की उड़ानों में यात्रियों को दिए जाने वाले खाने को ना देने का फैसला किया है। ताजा गाइडलाइन के मुताबिक 2 घंटे से कम अवधि की उड़ानों में अब खाना नहीं परोसा जाएगा। पिछले साल कोरोना के पहली लहर के दौरान भी इस तरह का फैसला किया गया था। हालांकि बाद में कोरोना के आंकड़े कम होने के बाद फैसले को वापस ले लिया गया था। 

सिर्फ यही नहीं, जिन फ्लाइट्स की अवधि  2 घंटे से ज्यादा है वहां भी खाना स्टैडर्ड या चरणबद्ध तरीके से ही दिया जाएगा। अगर फ्लाइट में खाना परोसा जाता है तो यह प्री पैक्ड होगा और डिस्पोजेबल प्लेट और कटलरी के साथ परोसा जाएगा। इस्तेमाल के बाद प्लेट, कटलरी और पैकिंग मटेरियल को सुरक्षित तरीके से तय नियम के मुताबिक डिस्पोज करना होगा। किसी भी स्थिति में इनका दोबारा इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।  

चाय, कॉफी और बाकी तरह के पेय भी डिस्पोजेबल बोतल, कंटेनर या कैन में दिए जाने चाहिए। क्रू को खाना देने के बाद अपने ग्ल्व्स बदलने का भी आदेश दिया गया है। यात्रियों को यात्रा के दौरान इन नए नियमों की जानकारी दी जानी चाहिए। विमानन मंत्रालय ने इस फैसले के  लिए कोरोना के बढ़ते मामलों और  कोविड-19 वायरस के यूके, साउथ अफ्रीका और ब्राजील के म्यूटेंट का हवाला दिया है। आदेश में कहा गया है कि इस बात के ठोस प्रमाण हैं कि कोविड-19 वायरस के ये नए म्यूटेंट से संक्रमण की संभावना ज्यादा है। इसी वजह से हवाई जहाज में खाने पीने के नियम बदले गए हैं। नए नियम 15 अप्रैल से लागू किए जाएंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *