स्पाइसजेट ने ढाई साल से अपने कर्मचारियों को नहीं दिया पीएफ, बढ़ी मुश्किल

मुंबई- वित्तीय संकट और कानूनी मामलों से जूझ रही एयरलाइन स्पाइसजेट ने पिछले 2.5 साल से अपने कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड में पैसा जमा नहीं किया है। एम्प्लॉइज प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (EPFO) ने यह जानकारी दी है।

EPFO ने बताया कि स्पाइसजेट ने आखिरी बार जनवरी 2022 में 11,581 एम्प्लॉइज के PF अकाउंट में पैसे जमा किए थे। EPFO ने बताया कि एयरलाइन को इसके लिए नोटिस और समन भेजा जा चुका है। एयरलाइन फिलहाल कई कानूनी मामलों से जूझ रही है।

EPFO एक्ट के मुताबिक, किसी भी कर्मचारी की बेसिक-पे और DA का 12% हिस्सा PF अकाउंट में जमा होता है। कंपनी की तरफ से भी कर्मचारी के PF अकाउंट में 12% योगदान जमा होता है। कंपनी वाले कॉन्ट्रीब्यूशन में से 3.67% EPF खाते में क्रेडिट होता है। वहीं, 8.33% अमाउंट पेंशन स्कीम में जमा होता है।

लीज पर देने वाली कई कंपनियों ने इसके खिलाफ केस किए हुए हैं। इसमें से कुछ मामले विमानों का पट्टा बढ़ाने से जुड़े हुए हैं। इससे पहले अप्रैल में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने तीन विमान पट्टेदारों की तरफ से दायर दिवालिया याचिका में टोटल 77 करोड़ रुपए के डिफॉल्ट पर स्पाइसजेट को नोटिस जारी किया था।

स्पाइसजेट का शेयर पांच जुलाई को 3.21% चढ़कर 56.02 रुपए के स्तर पर बंद हुआ। कंपनी के शेयर ने एक महीने में 0.39% और 6 महीने में 8.30% का निगेटिव रिटर्न दिया है। एक साल में शेयर ने 85.99% का पॉजिटिव रिटर्न दिया है। केवल इस साल की बाद करें यानी 1 जनवरी से अब तक, तो कंपनी के शेयर ने 7.62% का निगेटिव रिटर्न दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *