गर्मी का असर: ग्राहक बाहर नहीं निकले यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री घटी

मुंबई- देश में पड़ रही भीषण गर्मी का असर गाड़ियों की बिक्री पर भी पड़ा है। शोरूम में आने वालों की संख्या 15 फीसदी घटने से जून में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री सालाना आधार पर सात फीसदी कम हो गई है। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने बताया, कुल यात्री वाहन पंजीकरण पिछले माह 2,81,566 यूनिट रहा। जून, 2023 में 3,02,000 यूनिट था।

फाडा अध्यक्ष मनीष राज सिंघानिया ने कहा, मांग बढ़ाने के मकसद से बेहतर उत्पादों की उपलब्धता और पर्याप्त छूट के बावजूद भीषण गर्मी का बिक्री पर असर पड़ा है। मानसून में देरी से बाजार की धारणा सुस्त बनी हुई है। उन्होंने कहा, त्योहारी सीजन में अभी कुछ समय बाकी है, इसलिए यात्री वाहन मूल उपकरण निर्माताओं (ओईएम) के लिए सावधानी बरतना महत्वपूर्ण है। जून में दोपहिया वाहनों का पंजीकरण सालाना आधार पर पांच फीसदी बढ़कर 13,75,889 यूनिट हो गया।

वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री पिछले माह पांच फीसदी घटकर 72,747 यूनिट रह गई, जो जून 2023 में 76,364 यूनिट थी। ट्रैक्टर की बिक्री सालाना आधार पर 28 फीसदी घटकर 71,029 यूनिट हो गई। तिपहिया का पंजीकरण 5 फीसदी बढ़कर 94,321 यूनिट रहा। एक साल पहले इसी महीने में यह 89,743 यूनिट था। कुल वाहनों की खुदरा बिक्री जून में सालाना आधार पर मामूली बढ़कर 18,95,552 यूनिट हो गई।

फाडा के मुताबिक, यात्री वाहनों का इन्वेंट्री का स्तर रिकॉर्ड ऊंचाई स्तर पर पहुंच गया है। यानी डीलरों के पास अब वाहनों का भंडार 62 से 67 दिन पर पहुंच गया है। रुके हुए मानसून और चुनाव संबंधी बाजार मंदी ने विशेष रूप से ग्रामीण बिक्री को प्रभावित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *