टाटा ग्रुप देश का सबसे मूल्यवान ब्रांड, 2.38 लाख करोड़ रुपये आंकी गई वैल्यू

मुंबई-टाटा ग्रुप को एक बार फिर भारत का सबसे वैल्यूएबल ब्रांड घोषित किया गया है। ब्रांड फाइनेंस की लेटेस्ट रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी गई। ब्रांड फाइनेंस इंडिया-100 2024 रिपोर्ट के मुताबिक, टाटा ग्रुप की ब्रांड वैल्यू 9% की ग्रोथ के साथ 28.6 बिलियन डॉलर यानी 2.38 लाख करोड़ रुपए हो गई है।

डिजिटलाइजेशन, ई-कॉमर्स, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स पर मजबूत फोकस की बदौलत टाटा ग्रुप की ब्रांड वैल्यू में यह ग्रोथ देखने को मिली है। इन्हीं चीजों पर फोकस के चलते टाटा 2.50 लाख करोड़ रुपए के आंकड़े तक पहुंचने वाला पहला भारतीय ब्रांड बन सकता है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था में बढ़ते विश्वास को दर्शाता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, टाटा के बाद इंफोसिस भारत का दूसरा सबसे वैल्यूएबल ब्रांड है। इंफोसिस की ब्रांड वैल्यू 1.18 लाख करोड़ रुपए हो गई है। HDFC ग्रुप 86 हजार करोड़ रुपए की ब्रांड वैल्यू के साथ तीसरे नंबर पर है। HDFC लिमिटेड और HDFC बैंक के मर्जर से HDFC ग्रुप की ब्रांड वैल्यू में बढ़ोतरी देखने को मिली है।

ब्रांड फाइनेंस के सीनियर डायरेक्टर सैवियो डिसूजा ने टाटा की वैल्यू में ग्रोथ का श्रेय इसके लगातार टफ ऑर्गेनाइजेशनल चेंजेस, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन और एडवांस्ड टेक्नोलॉजी को अपनाने को दिया है। टाटा की ब्रांड वैल्यू को इंडियन प्रीमियर लीग यानी IPL की स्पॉन्सरशिप, एयरोनॉटिकल रीब्रांडिंग, वेस्टसाइड और टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स सहित इसके रिटेल सेक्टर के विकास से भी लाभ हुआ है।

LIC ग्रुप, रिलायंस इंडस्ट्रीज, SBI ग्रुप, एयरटेल, HCL टेक, लार्सन एंड टूब्रो, महिंद्रा और जेटवर्क भी टॉप इंडियन ब्रांड्स में शामिल है। HCL टेक उभरती हुई टेक्नोलॉजी और सर्विसेज में स्ट्रेटेजिक इन्वेस्टमेंट के कारण 8वें नंबर पर पहुंच गई है। लार्सन एंड टुब्रो अपने कई सेक्टर्स में एफिशिएंसी और ऑपरेशनल एक्सीलेंस पर फोकस करने के कारण टॉप इंडियन ब्रांड्स की लिस्ट में 9वें नंबर पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *