ह्यूंडई आईपीओ मैनेज करने वाले बैंकरों को देगी 334 करोड़ रुपये की फीस

मुंबई- साउथ कोरिया की कंपनी हुंडई की भारतीय यूनिट हुंडई मोटर इंडिया इंडियन मार्केट में अब तक का सबसे बड़ा इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी IPO लाने की तैयारी कर रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस IPO के लिए एडवाइज देने वाले बैंकों को कंपनी 334 करोड़ रुपए फीस दे रही है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह भारत में किसी IPO पर काम कर रहे एडवाइजिंग बैंकों के लिए अब तक की दूसरी सबसे बड़ी फीस होगी। सूत्रों ने बताया कि हुंडई इंडिया जेपी मॉर्गन, सिटीग्रुप और HSBC सहित एडवाइज देने वाले बैंकों को IPO के साइज का 1.3% पेमेंट किया जाएगा। IPO के लिए एडवाइजिंग बैंकों को सबसे ज्यादा फीस देने वाली हुंडई इंडिया दूसरी बड़ी कंपनी बनेगी।

हुंडई इंडिया से पहले भारतीय फिनटेक फर्म पेटीएम ने 2021 में IPO के लिए 7 एडवाइजिंग बैंकों को भारत में सबसे ज्यादा 368 करोड़ रुपए फीस दी थी। भारत में एडवाइजिंग बैंकों को IPO साइज का 1% या 3% फीस के तौर पर दिया जाता है।

हुंडई इंडिया IPO के लिए इसके एडवाइजिंग बैंकों के बीच फीस स्प्लिट अभी तक तय नहीं है। हालांकि, आम तौर पर लीड मैनेजर्स को ज्यादा पैसा दिया जाता है। सूत्रों ने बताया कि जेपी मॉर्गन, Citi और HSBC हुंडई इंडिया IPO के लिए लीड बैंक हैं। उन्होंने बताया कि इस डील में अन्य इनवेस्टमेंट बैंकों में मॉर्गन स्टेनली और कोटक महिंद्रा बैंक शामिल हैं।

हुंडई मोटर इंडिया IPO के जरिए अपनी 17.5% तक की हिस्सेदारी बेचकर 2.5-3 बिलियन डॉलर यानी करीब 25,000 करोड़ रुपए जुटाना चाहती है। कंपनी इस IPO में अपने टोटल 812 मिलियन (81.2 करोड़) शेयर्स में से 142 मिलियन यानी 14.2 करोड़ शेयर्स बेच रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *