एसआईपी में निवेश बढ़ रहा, लेकिन अप्रैल और मई में बंद हुए 77 लाख खाते

मुंबई- काफी ज्यादा खाते बंद होने के बावजूद म्युचुअल फंडों के सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) से निवेश निकासी पिछले छह महीने के औसत से थोड़ी ज्यादा रही है। निवेशकों ने पिछले महीने एसआईपी खातों से 11,678 करोड़ रुपये की निकासी की जबकि पिछले छह महीने का औसत 10,436 करोड़ रुपये रहा है।

एसोसिएशन ऑफ म्युचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के आंकड़ों के अनुसार इस निवेश निकासी को समायोजित करने के बाद मई में शुद्ध एसआईपी निवेश 9,226 करोड़ रुपये रहा जो सकल एसआईपी निवेश 20,904 करोड़ रुपये का 44 फीसदी बैठता है। शुद्ध एसआईपी आंकड़े यह बताते हैं कि मई में बड़ी संख्या में खातों के बंद होने की वजह निष्क्रिय खातों का बंद होना रही।

2023-24 में औसतन 19 लाख एसआईपी खाते बंद हुए जो अप्रैल 2024 में बढ़कर 33 लाख और मई में 44 लाख हो गए। बाजार नियामक सेबी के इस निर्देश के बाद ऐसा हुआ जिसने फंडों से कहा था कि लगातार तीन बार खाते से रकम नहीं निकल पाए तो उस एसआईपी खाते को बंद कर दिया जाए।

कुल मिलाकर निवेशकों ने कैलेंडर वर्ष 2024 के पहले पांच महीने में एसआईपी के जरिये शुद्ध रूप से 43,435 करोड़ रुपये का निवेश किया है जो इससे एक साल पहले की अवधि में 36,121 करोड़ रुपये था। एसआईपी के जरिये निवेश में बढ़ोतरी और एकमुश्त निवेश के कारण पिछले तीन महीनों में म्युचुअल फंडों ने इक्विटी बाजार में रिकॉर्ड निवेश किया है और मई में म्युचुअल फंडों की 46,666 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *