छोटे शहरों के निवेशकों का पसंदीदा बन रहा पैसिव फंड, एयूएम 6 लाख करोड़

मुंबई- म्यूचुअल फंड में निवेशकों के निवेश का मूल्य यानी एयूएम रिकॉर्ड 59 लाख करोड़ रुपये के करीब पहुंच गया है। इसमें छोटे शहरों के निवेशकों का भी योगदान अब तेजी से बढ़ रहा है। खासकर पैसिव फंड में।

पैसिव फंड के प्रदर्शन ने पिछले एक साल में निवेशकों को तेजी से आकर्षित किया है। वित्त वर्ष 2023-24 में पैसिव फंड ने लगभग 35 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है। यही कारण है कि एक्सचेंज ट्रेडेड फंड यानी ईटीएफ का एयूएम इसी दौरान 5.07 लाख करोड़ से बढ़कर 6.95 लाख करोड़ रुपये हो गया है। दूसरे स्तर के छोटे शहरों से पैसिव फंड निवेशकों की संख्या में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है।

पैसिव फंड बेंचमार्क इंडेक्स को ट्रैक करते हैं और उसके प्रदर्शन की नकल करने की कोशिश करते हैं। पैसिवली मैनेज किए जाने वाले फंड में पैसिव इंडेक्स फंड, ईटीएफ में निवेश करने वाले फंड ऑफ फंड शामिल होते हैं। पैसिव फंड बेंचमार्क का पालन करते हैं। बेंचमार्क के साथ मिलकर रिटर्न देने का लक्ष्य रखते हैं। उदाहरण के तौर पर निफ्टी 50 इंडेक्स, निफ्टी मिडकैप 150 ईटीएफ आदि शामिल हैं।

पैसिव फंड युवाओं के लिए एक बेहतर एंट्री पॉइंट्स हैं, जो सक्रिय रूप से चुनने के बजाय बाजार के रुझानों का पालन करते हैं। पैसिव निवेश एक निवेशक को दोहरा लाभ उठाने का मौका देता है। पहला, यह कुछ कारकों के आधार पर सही स्टॉक चुनता है। दूसरा, यह उन्हें इंडेक्स फंड फॉर्मेट में रखता है। इस प्रकार के स्मार्ट बीटा सूचकांकों में निवेश काफी लोकप्रिय हो रहा है, क्योंकि निवेशकों को कम लागत का लाभ मिल रहा है।

म्यूचुअल फंड हाउस निवेशकों को बेहतर रिटर्न देने के लिए निफ्टी 50 इंडेक्स को अब अलग नजरिए से देखना शुरू कर दिए हैं। निप्पॉन इंडिया निफ्टी 50 वैल्यू 20 इंडेक्स फंड इसका एक उदाहरण है। यह फंड निफ्टी 50 इंडेक्स का हिस्सा बनने वाली वैल्यू कंपनियों के विविध पोर्टफोलियो के प्रदर्शन को दर्शाने के लिए बनाया गया है। इसमें एनएसई पर सूचीबद्ध 20 सबसे अधिक लिक्विड वाली ब्लूचिप कंपनियां शामिल हैं।

इंडेक्स के शीर्ष 20 शेयरों को चुनकर फंड ने एक साल में 34.26 फीसदी का रिटर्न दिया है। निफ्टी 50 इंडेक्स ने सिर्फ 26.27 फीसदी का रिटर्न दिया है।इस इंडेक्स की खूबसूरती यह है कि यह विशेषता के साथ निफ्टी 50 के में से शेयरों को चुनता है। पैसिव फंड एक तरह का ईटीएफ या इंडेक्स फंड होता है। इसमें निवेश की लागत भी कम होती है। इस वजह से यह निवेशकों का पसंदीदा निवेश साधन बनता जा रहा है।

इंडेक्स फंड सही है के सीईओ सूरज रवींद्रन कहते हैं कि पैसिव फंडों ने निवेशकों को तेजी से आकर्षित किया है। ये फंड नए और भोले-भाले निवेशकों के लिए बहुत अच्छे हैं, जो बाजार के समय की चिंता किए बिना अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *