इंडस टॉवर में 19,213 करोड़ रुपये में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेगी वोडाफोन

मुंबई- वोडाफोन ग्रुप मोबाइल टावर ऑपरेटर इंडस टावर्स में अपनी 2.3 बिलियन डॉलर यानी 19,213 करोड़ रुपए की पूरी हिस्सेदारी अगले सप्ताह ब्लॉक डील के जरिए बेच सकता है। इंडस टावर्स में वोडाफोन की 21.5% हिस्सेदारी कई ग्रुप एंटिटीज के जरिए है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर डिमांड कम रही तो फाइनल डील वोडाफोन की इंडस टावर्स में पूरी हिस्सेदारी से कम में हो सकती है। इस खबर के बाद वोडाफोन आइडिया का शेयर 4.48% की तेजी के साथ 16.79 रुपए पर बंद हुआ। वहीं इंडस टावर्स का शेयर 0.13% बढ़कर 339 रुपए पर बंद हुआ।

वोडाफोन आइडिया के 5G रोलआउट और 4G कवरेज के प्लान्स हैं। यही वजह है कि कंपनी एक बड़ा फंड जुटाने की कोशिश कर रही है। रिपोर्ट्स के अनुसार, वोडाफोन ने इस डील को मैनेज करने में मदद के लिए बैंक ऑफ अमेरिका, मॉर्गन स्टेनली और BNP पारिबास को हायर किया है।

एयरटेल के सुनील मित्तल की कंपनी भारती एयरटेल इंडस टावर्स की सबसे बड़ी शेयरहोल्डर है। एयरटेल की इंडस में 47.95% हिस्सेदारी है। एक दिन पहले टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (VIL) के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने फंड जुटाने की योजना को मंजूरी दी थी। इसके तहत कंपनी ₹2,458 करोड़ जुटाने के लिए ₹14.80 प्रति शेयर के हिसाब से लगभग 166 करोड़ नए शेयर इश्यू करेगी।

कंपनी ने एक्सचेंज फाइलिंग में बताया था कि वह नोकिया सॉल्यूशंस एंड नेटवर्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को 1,520 करोड़ रुपए के 102.7 करोड़ शेयर अलॉट करेगी। वहीं, बाकी 938 करोड़ रुपए के 63.37 करोड़ शेयर एरिक्सन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को अलॉट करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *