टाटा मोटर्स ईवी में करेगी 16,000 करोड़ का निवेश, छह नए मॉडल उतारेगी

मुंबई- प्रमुख वाहन कंपनी टाटा मोटर्स वित्त वर्ष 2029-30 तक अपने इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) कारोबार में 16,000 करोड़ रुपये से 18,000 करोड़ रुपये के बीच निवेश करने की सोच रही है। देश में अभी इलेक्ट्रिक कार के चार मॉडल बेच रही कंपनी ने बताया कि मार्च 2026 तक छह नए मॉडल उतारने का उसका इरादा है।

कंपनी ने वित्त वर्ष 2030 तक यात्री वाहन बाजार में 20 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करने का लक्ष्य रखा है। वाहन कंपनियों के संगठन सियाम के आंकड़ों के अनुसार पिछले वित्त वर्ष में बिके वाहनों की संख्या के हिसाब से देसी यात्री वाहन बाजार में टाटा मोटर्स की हिस्सेदारी 13.81 फीसदी रही।

टाटा मोटर्स ने कहा, एक बार चार्ज करने पर अधिक दूरी तय करने वाले कई मॉडल उतारना और उनकी कीमत घटाकर पेट्रोल-डीजल वाहनों के बराबर लाना शामिल है। कंपनी अगले अपने इलेक्ट्रिक कार शोरूम की संख्या अगले 2 साल में बढ़ाकर 50 शहरों तक ले जाने की भी योजना बना रही है।

टाटा मोटर्स का लक्ष्य चार्जजोन, ग्लाइडा और स्टैटिक जैसे निजी चार्जिंग पॉइंट ऑपरेटरों की मदद से देश भर में वित्त वर्ष 2030 तक सार्वजनिक चार्जिंग पॉइंट की संख्या 1 लाख कर देना है। अभी देश में करीब 4,300 कम्युनिटी चार्जिंग पॉइंट भी हैं और कंपनी इनकी संख्या भी 2030 तक 1 लाख करने के लिए काम कर रही है।

सार्वजनिक चार्जिंग पॉइंट पर कोई भी अपना ईवी चार्ज कर सकता है और यह सार्वजनिक स्थानों पर होता है। कम्युनिटी चार्जिंग पॉइंट किसी खास हाउसिंग सोसाइटी या रिहायशी इलाके में रहने वालों के लिए होते हैं। टाटा मोटर्स ने कहा कि अभी उसके 10-15 फीसदी ईवी ग्राहक ही रूफटॉप सोलर बिजली से अपनी गाड़ी चार्ज कर रहे हैं। कंपनी वित्त वर्ष 2030 तक यह आंकड़ा भी बढ़ाकर करीब 50 फीसदी करना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *