चीनी की बढ़ सकती है एमएसपी, शेयरों में तेजी, एक महीने में 20 पर्सेंट लाभ

मुंबई- सरकार सीजन 2024-25 में चीनी का न्यूनतम बिक्री मूल्य (MSP) जल्द ही बढ़ाने का ऐलान कर सकती है। एमसपी बढ़ने की उम्मीदों से चीनी कंपनियों शेयरों में जोरदार तेजी आई है और शुगर स्टॉक्स (Sugar Stocks) गुरुवार को 15 फीसदी तक उछल गए।

एमएसपी बढ़ने की उम्मीद में चीनी कंपनियों के शेयर हर दिन बढ़ रहे हैं। गुरुवार को बीएस शुगर इंडेक्स (BSE Sugar Index) 6.6 फीसदी चढ़ गया। एक महीने में शुगर इंडेक्स लगभग 18 फीसदी की उड़ान भर चुका है जबकि बीएससी सेंसेक्स (BSE Sensex) आज 0.3 फीसदी और एक महीने में करीब पांच फीसदी ऊपर गया है।

गुरुवार को लगभग सभी चीनी मिलों के शेयरों में तेजी देखने को मिली। बजाज हिन्दुस्तान शुगर का शेयर 14.5 फीसदी, श्री रेणुका शुगर्स का शेयर 11.7 फीसदी, उत्तम शुगर मिल्स का शेयर 7.6 फीसदी, बलरामपुर चीनी का शेयर 4.6 फीसदी, त्रिवेणी इंजीनियरिंग का शेयर 5.3 फीसदी, धामपुर शुगर 5.4 फीसदी और अवध शुगर मिल्स का शेयर 5.4 फीसदी उछल गए।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सरकार चीनी की एमएसपी (Sugar MSP) बढ़ाने के लिए सहमत हो गई है। उद्योग की मांग है कि चीनी की एमएसपी 41 रुपये प्रति किलो की जाए, अभी यह 31 रुपये प्रति किलो है। महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश में एक्स- मिल कीमतें 37-38 रुपये प्रति किलो हैं।

सरकार ने चीनी की एमएसपी साल 2018 में शुरु किया था। चीनी की एमएसपी तय करने के लिए गन्ने की एफआरपी (Fair and Remunerative Price) और सबसे कारगर मिल्स की चीनी बनाने की लागत को देखा जाता है। चीनी मिलों का कहना है कि गन्ने की एफआरपी में बढ़ोत्तरी हुई है लेकिन चीनी की एमएसपी में बढ़ोत्तरी नहीं की गई है, इसलिए सरकार को जल्द एमएसपी में बढ़ोतरी करनी चाहिए ।

साल 2019 में चीनी का एमएसपी बढ़ाकर 31 रुपये प्रति किलो किया गया था। उस समय गन्ने का एफआरपी 275 रुपये प्रति क्विंटल था । धीरे धीरे गन्ने का एफआरपी बढ़ाकर 340 रुपये क्विंटल हो गया जबकि चीनी की एमएसपी 31 रुपये प्रति किलो ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *