शेयर बाजार हो सकता है धराशायी, अगले साल 92 फीसदी तक टूट सकता है

मुंबई- प्रख्यात अमेरिका अर्थशास्त्री हैरी डेंट ने शेयर बाजार में बड़ी गिरावट की चेतावनी दी है। उनका कहना है कि 2025 में शेयर बाजार 92 फीसदी तक टूट सकता है। यह 2008 की वैश्विक मंदी के समय से भी बड़ी गिरावट होगी। उनके मुताबिक, बाजार की तेजी एक बुलबुला है। यह कभी भी फूट सकता है।

डेंट ने 1989 में जापान के एसेट प्राइस बुलबुले के फूटने की भविष्यवाणी की थी जो सही साबित हुई थी। इसके बाद 2000 में उन्होंने डॉटकॉम को लेकर भी ऐसा ही अनुमान जताया था। यह भी सही साबित हुआ। डेंट ने अमेरिकी टीवी चैनल फॉक्स के साथ बातचीत में कहा, 1925 से 1929 तक एक प्राकृतिक बुलबुला था। उसके पीछे लोगों द्वारा खुद से बनाई गई कोई समस्या नहीं थी। अब अर्थव्यवस्था में अतिरिक्त नकदी की बाढ़ ला देने से अर्थव्यवस्था को लंबी अवधि में फायदा पहुंचाने की उम्मीद की जा रही है, लेकिन हम तब देखेंगे जब ये बुलबुला फूट जाएगा।

उन्होंने कहा, अमेरिका का एसएडंपी 86 फीसदी और नैस्डेक 92 फीसदी तक टूट सकता है। एनवीडिया जैसे शेयर अगर 98 फीसदी तक गिरते हैं तो समझिए कि सब खत्म है। डेंट का कहना सच हुआ तो निवेशकों को लाखों करोड़ डॉलर का घाटा होगा। इससे बाजार लंबे समय तक नहीं उबर पाएगा। डेंट का कहना है कि आमतौर पर बुलबुले 5-6 साल के अंदर फूटते हैं लेकिन वर्तमान बुलबुला 14 साल से चल रहा है। ऐसे में गिरावट भारी होने वाली है।

डेंट ने कहा, मौद्रिक नीतियों में ढील देने और देश की डांवाडोल अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए दुनिया भर की सरकार अर्थव्यवस्था में जमकर पैसा डाल रही हैं। साल 2008 के वित्तीय संकट की वजह संपत्ति की बढ़ी हुई कीमत थी। इस बार बुलबुले का बुलबुला बन रहा है। कोरोना संकट की वजह से दुनिया भर की अर्थव्यवस्था में भारी कमजोरी देखी गई थी। हाल में विश्व बैंक ने वैश्विक अर्थव्यवस्था के इस साल 2.6 फीसदी की वृद्धि होने का अनुमान लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *