आईपीएल का मूल्य 6.5 फीसदी बढ़कर 16.4 अरब डॉलर, चेन्नई है टॉप पर

मुंबई- इंडियन प्रीमियम लीग यानी आईपीएल ब्रांड के कारोबार का मूल्य सालाना आधार पर 6.5 फीसदी बढ़कर इस साल 16.4 अरब डॉलर हो गया है। अमेरिकी निवेश बैंक हुलिहान लोकी के मुताबिक, केवल आईपीएल का मूल्य 6.3 फीसदी बढ़कर 3.4 अरब डॉलर हो गया है। 2022 में डिज्नी स्टार और वायाकॉम18 के साथ 6 अरब डॉलर के मीडिया अधिकार सौदे और 2023 में टाटा संस के साथ 30 करोड़ डॉलर के टाइटल स्पांसर सौदे से आईपीएल का मूल्य मजबूत हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार, आईपीएल ने खेल कौशल, मनोरंजन और व्यावसायिक सफलता का एक असाधारण मिश्रण दिखाते हुए वैश्विक मंच पर एक प्रमुख खेल लीग के रूप में अपनी स्थिति मजबूत की है। लीग की वृद्धि न केवल संख्या में बल्कि प्रशंसकों को जोड़ने और डिजिटल प्लेटफॉर्म का लाभ उठाने के अभिनव दृष्टिकोण में भी है।

मूल्यांकन के लिहाज से चेन्नई सुपर किंग्स 23.1 करोड़ डॉलर के साथ पहले क्रम पर है। सालाना आधार पर इसमें 9 फीसदी की बढ़त हुई है। एक भी फाइनल नहीं जीतने वाले बंगलूरू 22.7 करोड़ डॉलर के साथ दूसरे क्रम पर है। इस साल के विजेता रहे कोलकाता नाइट राइडर्स ने मुंबई को पीछे छोड़कर तीसरा स्थान हासिल किया है। इसका मूल्य 19.30 फीसदी बढ़कर 21.6 करोड़ डॉलर रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुंबई इंडियंस का मूल्य 20.4 करोड़ डॉलर रहा है। राजस्थान रॉयल्स दो अंकों की छलांग लगाकर पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। इसका मूल्य 13.3 करोड़ डॉलर है। इस बार फाइनल जीतने से चूकने वाले हैदराबाद का मूल्य 13.2 करोड़ डॉलर रहा है। यह छठें स्थान पर है। दिल्ली कैपिटल्स सातवें स्थान पर है। इसका मूल्य 13.1 करोड़ डॉलर है। 12.4 करोड़ डॉलर मूल्य के साथ गुजरात टाइटंस आठवें स्थान पर है। लखनऊ सुपर जायंट्स का मूल्य 9.1 करोड़ डॉलर आंका गया है। जबकि पंजाब किंग्स का मूल्य 10.1 करोड़ डॉलर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *