म्यूचुअल फंड एयूएम रिकॉर्ड 58 लाख करोड़, एक साल में 10 लाख करोड़ बढ़ा

मुंबई- लोकसभा चुनाव के कारण शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला मगर म्यूचुअल फंड पर इसका कोई खास प्रभाव देखने को नहीं मिला। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के जारी आंकड़ों के मुताबिक, म्यूचुअल फंड संपत्ति मई में बढ़कर 58.6 लाख करोड़ रुपये हो गई।

भारत में म्यूचुअल फंड एक साल से भी कम समय में 10 लाख करोड़ रुपये जोड़ने के करीब है। इतना ही नहीं म्यूचुअल फंड संपत्ति में यह अब तक की सबसे तेज वृद्धि है। सन् 1964 में अपनी स्थापना के बाद से फंड उद्योग को पहली 10 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनाने में पांच दशक का समय लगा जबकि इसने छह महीने से भी कम समय में अंतिम 9 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति जोड़ दी है।

AMFI के आंकड़ों के मुताबिक, मई में, इक्विटी म्यूचुअल फंडों में निवेश में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई और यह 34,697 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। पिछले महीने की तुलना में इक्विटी म्यूचुअल फंडों में निवेश में 83.42 प्रतिशत का उछाल आया है। अप्रैल में यह 18,917 करोड़ रुपये था। एक साल पहले की समान अवधि यानी अप्रैल 2023 में यह 3,240 करोड़ रुपये था। मई में, इक्विटी म्यूचुअल फंडों का AUM 25.39 लाख करोड़ रुपये हो गया।

मई में नेट इक्विटी म्यूचुअल फंड फ्लो अप्रैल 2019 के बाद से सबसे ज्यादा है। पिछले 39 महीनों में बेंचमार्क एनएसई निफ्टी 50 में म्यूचुअल फंड फ्लो के कारण लगभग 55 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मई में स्मॉल-कैप में निवेश 23.4 प्रतिशत बढ़कर 2,725 करोड़ रुपये हो गया, जबकि मिड-कैप फंड में फ्लो 45.3 प्रतिशत बढ़कर 2,606 करोड़ रुपये हो गया। इस बीच, लार्ज-कैप में निवेश लगभग दोगुना होकर 663 करोड़ रुपये हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *