इस शेयर में 60 पर्सेंट गिरावट का डर, 2600 से 900 पर आने की आशंका

मुंबई- कई सरकारी कंपनियों के शेयरों ने पिछले एक साल में मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। इनमें डिफेंस सेक्टर की पीएसयू मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स (Mazagon Dock Shipbuilders) भी शामिल है। लेकिन घरेलू ब्रोकरेज फर्म ICICI Securities ने निवेशकों को इसे बेचने की सलाह दी है।

फर्म का कहना है कि इसकी कीमत 900 रुपये तक गिर सकती है। यह इसके मंगलवार के बंद भाव से 66 फीसदी कम है। यह शेयर मंगलवार को 2,679.30 रुपये पर बंद हुआ था। ICICI Securities का कहना है कि यह शेयर सारे पॉजिटव फैक्टर का यूज कर चुका है और अब इसे बेचने में ही भलाई है।

ICICI Securities ने मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स का टारगेट प्राइस 900 रुपये तय किया है। इस शेयर ने पिछले एक साल में 171 फीसदी रिटर्न दिया है जबकि इस साल इसमें केवल 13 फीसदी तेजी आई है। जून में पहले तीन कारोबारी दिनों में से दो दिन इसमें कुल 19 फीसदी गिरावट आई है। मई में इसमें 35.5 फीसदी और अप्रैल में 26 फीसदी तेजी आई थी। उससे पहले फरवरी में इसमें नौ फीसदी और मार्च में 10.5 परसेंट तेजी आई थी। मार्च में इस शेयर में 0.4 फीसदी की बेहद मामूली तेजी आई थी। हालिया गिरावट के बाद यह शेयर अपने रेकॉर्ड हाई से 23 फीसदी नीचे हैं।

मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स के शेयर का उच्चतम स्तर 3,478.15 रुपये है जो इसने इसी साल 30 मई को छुआ था। इसका 52 हफ्ते का न्यूनतम स्तर 990 रुपये है जहां यह आठ जून, 2023 को पहुंचा था। पिछले तीन साल की बात करें तो इस दौरान यह शेयर 1177 परसेंट से अधिक उछला है। यह कंपनी नैवी और कोस्ट गार्ड के लिए जहाज बनाती है। ICICI Securities का कहना है कि अभी इस सरकारी कंपनी के पास रेकॉर्ड ऑर्डर हैं लेकिन आगे स्थिति साफ नहीं है। यही कारण है कि इस शेयर के साथ जोखिम जुड़ा है और आगे इसमें गिरावट की आशंका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *