मार्क मोबियस बोले, मिट्‌टी में हीरा तलाशने का समय, चूके तो गए काम से

मुंबई-: अरबपति निवेशक मार्क मोबियस ने बुधवार को भारतीय शेयर बाजारों पर अपनी राय साझा की है। उनके मुताबिक, यह मिट्टी में हीरा खोज लेने का वक्‍त है। लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद मंगलवार को शेयर बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई थी। इसने कई बेहतरीन शेयरों को आकर्षक कीमतों पर पहुंचा दिया है। इनमें निवेश का यह सही समय हो सकता है।

मंगलवार को भारी गिरावट के बाद बुधवार को शेयर बाजार में उछाल आया। लेकिन, मोबियस ने डिस्‍काउंट प्राइस पर मजबूत बाजार प्रदर्शन करने वाली कंपनियों को खोजने की संभावना पर जोर दिया है। मोबियस ने कहा, ‘लंबी अवधि के नजरिये से भारत अभी भी एक जबर्दस्‍त जगह है। यह मंदी का वक्‍त है। निवेश के लिए कुछ सौदे खोजने का यह बाजार में सही समय हो सकता है।’

उन्होंने बताया कि कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनियों और निर्माण सामग्री सप्‍लायर के शेयरों में गिरावट आई है। भविष्य में ये मजबूत प्रदर्शन कर सकती हैं। मोबियल ने भारत में बुनियादी ढांचे के विकास की जरूरत पर जोर दिया। कहा कि सत्ता में चाहे कोई भी राजनीतिक दल हो, इस क्षेत्र में प्रगति जरूरी है।

मंगलवार को भारी गिरावट के बाद बुधवार को भारतीय शेयर बाजारों में जोरदार रिकवरी देखने को मिली। यह रिकवरी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और उसके सहयोगियों की ओर से स्थिर सरकार बनाने की उम्मीद से प्रेरित थी। सेंसेक्स 2,303 अंक चढ़कर 74,382 पर बंद हुआ।

मंगलवार को बाजार में भारी गिरावट और उसके बाद बुधवार को बड़ी तेजी के बारे में पूछे जाने पर मोबियस ने निवेशकों को सतर्क रहने की सलाह दी। उनके मुताबिक, भविष्य के बाजार रुझान नई सरकार की ओर से लागू की जाने वाली नीतियों पर काफी हद तक निर्भर करेंगे।

मोबियस कैपिटल पार्टनर्स के संस्थापक साझेदार मोबियस ने पहले कहा था कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव के बाद तीसरी बार सत्ता में लौटते हैं, तो बुनियादी ढांचा क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा। सीएनबीसी इंटरनेशनल से बात करते हुए मोबियस ने कहा था, ‘बड़ा सवाल यह है कि क्या वह संविधान में बदलाव के लिए सीटें हासिल कर पाएंगे। मुझे संदेह है कि इस समय ऐसा होगा। लेकिन, ऐसा हो सकता है। अगर ऐसा होता है तो हम भारत में बड़े बदलावों के लिए एक और बड़ा प्रयास देखेंगे, खासकर बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *