कई देशों की जीडीपी से ज्यादा एलआईसी का एयूएम, फंड उद्योग के बराबर

मुंबई- देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी (LIC) का एसेट अंडर मैनेजमेंट 50 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। यह पाकिस्तान की इकॉनमी के साइज से करीब दोगुना है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक एलआईसी का एसेट अंडर मैनेजमेंट पिछले साल से मुकाबले मार्च के अंत में 16.48 फीसदी की तेजी के साथ 51.22 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया।

फाइनेंशियल ईयर 2023 के अंत में एलआईसी का कुल एयूएम 43.97 लाख करोड़ रुपये था। आईएमएफ के आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान की जीडीपी 338.24 अरब डॉलर है। इस तरह देखें तो एलआईसी का एसेट अंडर मैनेजमेंट पाकिस्तान की इकॉनमी से करीब दोगुना है।

एलआईसी के फंड का साइज पाकिस्तान (338 अरब डॉलर), नेपाल (44.18 अरब डॉलर) और श्रीलंका (74.85 अरब डॉलर) की कंबाइंड जीडीपी से अधिक है। फाइनेंशियल ईयर 2024 में एलआईसी का प्रॉफिट 40,676 करोड़ रुपये रहा और उसकी टोटल प्रीमियम इनकम 4,75,070 करोड़ रुपये रही। भारत के लाइफ इंश्योरेंस बिजनस में इस कंपनी ही हिस्सेदारी करीब 59 परसेंट है। अब कंपनी हेल्थ इंश्योरेंस सेक्टर में भी उतरने की तैयारी में है।

एलआईसी मार्केट कैप के हिसाब से देश की सातवीं सबसे बड़ी कंपनी है। इसका मार्केट कैप 6.46 लाख करोड़ रुपये है। पिछले छह महीने में इसके शेयरों में करीब 52 फीसदी तेजी आई है। इसमें सरकार की 96.5 फीसदी हिस्सेदारी है। पाकिस्तान को अगले पांच साल में 123 अरब डॉलर का भुगतान करना है। उसे 2024-25 में 21 अरब डॉलर, 2025-26 में 23 अरब डॉलर, 2026-27 में 22 अरब डॉलर, 2027-28 में 29 अरब डॉलर और 2028-29 में 28 अरब डॉलर का भुगतान करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *