जियो फाइनेंशियल अब किराये पर सामान देने वाले कारोबार में उतरेगी जियो

मुंबई- जियो फाइनेंशियल सर्विसेज ने रिलायंस रिटेल से ₹36,000 करोड़ के डिवाइस खरीदने के लिए शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मांगी है। फाइनेंसियल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी डिवाइस लीजिंग बिजनेस यानी रेंट पर सामान देने वाले बिजनेस में एंट्री करने की योजना बना रही है।

प्रस्तावित डील के तहत, जियो लीजिंग सर्विसेज नाम की JFS यूनिट टेलीकॉम इक्विपमेंट और अन्य डिवाइस खरीदेगी, जिसमें आम तौर पर राउटर और मोबाइल फोन शामिल हैं। हालांकि, कंपनी ने स्पष्ट रूप से यह नहीं बताया है कि वह कौन से प्रोडक्ट्स को खरीदेगी। जियो लीजिंग सर्विसेज खरीदे गए डिवाइसों को रिलायंस जियो इंफोकॉम के ग्राहकों को किराए पर देगी। इस तरह जियो लीजिंग सर्विसेज डिवाइस किराए पर देने वाली कंपनियों के बाजार में हेवलेट पैकर्ड और लेनेवो जैसी कंपनियों को टक्कर देगी।

रिपोर्ट के मुताबिक, प्रस्तावित डील पर वोटिंग 22 जून को खत्म हो जाएगी और यह पूरी डील 2025 और 2026 के वित्तीय वर्ष में पूरा हो सकती है। जियो फाइनेंशियल सर्विस का शेयर 365.25 के स्तर पर बंद हुआ। पिछले 1 महीने में शेयर ने 4.46% का निगेटिव रिटर्न दिया है। जबकि, पिछले 6 महीने में जियो फाइनेंशियल का शेयर 61.37% का पॉजिटिव रिटर्न दिया है।

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज का वित्त वर्ष 2024 की चौथी तिमाही में नेट प्रॉफिट सालाना आधार पर 6% बढ़कर ₹310 करोड़ रहा। वहीं, नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (NBFC) जियो फाइनेंशियल की चौथी तिमाही में नेट इंटरेस्ट इनकम (NII) 280 करोड़ रुपए रही। वहीं टोटल इंटरेस्ट इनकम 418 करोड़ रुपए और टोटल रेवेन्यू 418 करोड़ रुपए रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *