पहली तिमाही में शीर्ष दिल्ली–एनसीआर सहित आठ शहरों में जमकर बिके घर

मुंबई- मकानों की बिक्री जोर पकड़ रही है। इससे बिना बिके मकानों की संख्या में भी गिरावट आ रही है। दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र यानी एनसीआर में सबसे ज्यादा घर बिके हैं। सबसे कम बिना बिके मकान नोएडा और सबसे अधिक गुरुग्राम में बचे हैं। इसी तरह दूसरे शहरों में भी बिना बिके मकानों की संख्या में तेज गिरावट आई है।

एनारॉक के आंकड़ों के मुताबिक, 2018 की पहली तिमाही में दिल्ली—एनसीआर में बिना बिके मकानों की संख्या 2.04 लाख थी। 2024 की पहली तिमाही में यह 57 फीसदी घटकर 86,420 रह गई। बिना बिके मकानों की संख्या में सबसे ज्यादा 71 फीसदी कमी नोएडा में आई है। नोएडा में 2018 की पहली तिमाही में बिना बिके मकानों की संख्या 25,669 थी, जो 2024 की पहली तिमाही में 71 फीसदी घटकर 7,451 रह गई।

पांच साल में ग्रेटर नोएडा व गाजियाबाद में बिना बिके मकानों की संख्या 70—70 फीसदी घटकर क्रमश: 18,668 और 11,011 रह गई। गुरुग्राम में 37 फीसदी घटकर 33,326 और फरीदाबाद, दिल्ली और भिवानी में यह 31 फीसदी घटकर 15,964 रह गई। हैदराबाद, बंगलूरू और चेन्नई में बिना बिके मकानों की संख्या 11 फीसदी घटकर 1,75,520 रह गई है।

मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन (एमएमआर) व पुणे में इनकी संख्या 8 फीसदी घटकर 2,89,677 और कोलकाता में 41 फीसदी घटकर 29,278 रह गई। 5 साल में उत्तरी क्षेत्र में 1,80,895, दक्षिणी क्षेत्र में 6,06,654 मकानों की नई आपूर्ति की गई। पूर्वी क्षेत्र में 80,934 व पश्चिमी भारत में सबसे अधिक 8,42,298 नए मकानों की आपूर्ति की गई। इन क्षेत्रों के प्रमुख शहरों में करीब 17 लाख नये मकानों की आपूर्ति की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *