देश के बैंकिंग सेक्टर ने पहली बार कमाया 3 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा लाभ

मुंबई- देश के बैंकिंग सेक्टर ने पहली बार 3 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का लाभ कमाया है। वित्त वर्ष 2023-24 में सरकारी और निजी बैंकों का 3.1 लाख करोड़ रुपये मुनाफा रहा है। 2022-23 में यह 2.2 लाख करोड़ रुपये रहा था।

3 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा मोटे तौर पर वित्तीय वर्ष की शुरुआती तीन तिमाहियों के दौरान सभी सूचीबद्ध कंपनियों के मुनाफे के बराबर है। बैंकों का मुनाफा आईटी सेवाओं से भी अधिक है। 2023-24 में सूचीबद्ध आईटी सेवा कंपनियों ने करीब 1.1 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है।

कुल मुनाफे में सरकारी बैंकों का 1.42 लाख करोड़ रुपये हिस्सा है। यह 2022-23 से 34 फीसदी अधिक है। हालांकि, निजी क्षेत्र का मुनाफा इसी दौरान 42 फीसदी बढ़कर 1.7 लाख करोड़ रुपये रहा है। एक साल पहले यह 1.2 लाख करोड़ रुपये था।

हाल के वर्षों में सरकारी बैंक अपनी बैलेंसशीट में सुधार करके और कमाई बढ़ाकर निजी बैंकों के साथ लाभ के अंतर को कम कर रहे हैं। पिछले तीन वर्षों में सरकारी बैंकों का शुद्ध लाभ चार गुना से ज्यादा बढ़ा है। अगर कई बैंकों ने पेंशन के लिए एकमुश्त प्रावधान नहीं किया होता तो सरकारी बैंक और ज्यादा लाभ कमाते।

आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2018 में सरकारी बैंक 85,390 करोड़ रुपये के घाटे में थे। कुल 12 सरकारी बैंकों ने अब रिकॉर्ड मुनाफा कमाया है। जिन बैंकों के फायदे में 50 फीसदी से ज्यादा बढ़त हुई, उनमें बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र और इंडियन ओवरसीज बैंक रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *