पीएम मोदी का दावा… 4 जून को नतीजे के बाद रिकॉर्ड तोड़ देगा शेयर बाजार

मुंबई- लोकसभा चुनावों की गहमागहमी के बीच पहली बार शेयर बाजार भी इसमें शामिल हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक इंटरव्यू में कहा कि 4 जून को जब चुनाव नतीजे आएंगे तो उसके बाद शेयर बाजार में जोरदार उछाल दिखेगा। इन नतीजों के आने के बाद शेयर बाजार अपने पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ देगा।

पीएम मोदी ने कहा, आप देखना कि चुनाव के नतीजे आने के बाद पूरे हफ्ते इस कदर ट्रेडिंग होगी कि उसे ऑपरेट करने (प्रोग्रामिंग) वाले थक जाएंगे। प्रधानमंत्री ने शेयर बाजार के पिछले एक दशक का रिकॉर्ड सामने रखते हुए कहा, बीते 10 वर्षों में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई ने 25,000 से 75,000 तक की यात्रा तय की है।

उनके मुताबिक, सरकारी कंपनियों के शेयरों में जोरदार तेजी आ सकती है। सरकारी कंपनियों के शेयर आजकल दौड़ रहे हैं। निवेशक शेयर बाजारों में जितना अधिक निवेश करेंगे, उतना ही अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर है। हमारी सरकार ने अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए सबसे ज्यादा आर्थिक सुधार किए हैं।

मोदी ने कहा, मैं चाहता हूं कि नागरिकों में जोखिम उठाने की क्षमता बढ़नी चाहिए। पहले सरकारी कंपनियों के शेयरों में लगातार गिरावट देखने को मिलती थी, लेकिन आज ये उछाल मार रहे हैं। विपक्ष हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स को लेकर तमाम बातें करता था। आज हालात इतने बदले हैं कि चौथी तिमाही में इसने रिकॉर्ड 4,000 करोड़ रुपये का लाभ कमाया है।

मोदी ने कहा, आज दुनिया यह मानती है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यानी एआई में भारत पूरी दुनिया का नेतृत्व करेगा। हमारे पास युवा है। विविधता है, डेटा की ताकत है। कंटेंट क्रिएटर्स और गेमर्स से अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा, उन्होंने मुझे एक बड़ी आश्चर्यजनक चीज बताई। उन्होंने बताया कि डेटा बहुत सस्ता है। भारत में जब बाहर के लोग आते हैं तो हैरान हो जाते हैं कि अरे इतने कम कीमत में कैसे डेटा मिल रहा है।

जिन सरकारी कंपनियों के शेयरों ने निवेशकों को मालामाल किया है, उसमें मझगांव डाक के शेयर ने तीन साल में 119 फीसदी रिटर्न, एक साल में 180 फीसदी का फायदा दिया है। रेल विकास निगम ने तीन साल में 111 फीसदी और एक साल में 89 फीसदी रिटर्न और एचएएल ने तीन साल में 98 फीसदी और एक साल में 152 फीसदी रिटर्न दिया।

आईआरएफसी के शेयर ने तीन साल में 93 फीसदी और एक साल में 333 फीसदी का फायदा दिया। कोचिन शिपयार्ड के शेयर ने तीन साल में 88 और एक साल में 355 फीसदी फायदा दिया। भारत डायनामिक्स ने तीन साल में 77 फीसदी, एक साल में 250 फीसदी जबकि इरकॉन ने तीन साल में 75 फीसदी और एक साल में 120 फीसदी फायदा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *