आईडीएफसी लिमिटेड का अब आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के साथ होगा मर्जर

मुंबई- आईडीएफसी लिमिटेड का आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के साथ मर्जर होने जा रहा है। आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयरधारकों ने आईडीएफसी लिमिटेड के साथ बैंक के मर्जर को मंजूरी दे दी है। बैंक ने जानकारी दी है कि नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल की चेन्नई बेंच के द्वारा बुलाई गई बैठक में मेजोरिटी शेयर होल्डर्स ने ये मंजूरी दी है।

बैंक के बोर्ड ने एनसीएलटी को विलय के प्रस्ताव पर मतदान के नतीजे से सूचित किया। उन्होंने बताया कि विलय योजना के पक्ष में 99.95 वोट पड़े थे। जल्द ही इस पर एनसीएलटी की भी हरी झंडी मिलने के आसार हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, एनसीएलटी भी दोनों के मर्जर को जल्द ही हरी झंडी दिखा सकता है। इससे पहले पिछले साल 27 दिसंबर को आईडीएफसी लिमिटेड ने कहा था कि आरबीआई ले आईडीएफसी लिमिटेड, आईडीएफसी एफएचसीएल और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के मर्जर के लिए एनओसी दे दी है।

वहीं पिछले साल जुलाई 2023 में आईडीएफसी एफएचसीएल, आईडीएफसी और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने इस मर्जर को हरी झंडी दिखाई थी। दिसंबर 2023 में रिजर्व बैंक ने आईडीएफसी और उसकी बैंकिंग सब्सिडियरी आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के रिवर्स मर्जर को मंजूरी दी थी। वहीं आईडीएफसी फाइनेंशियल होल्डिंग कंपनी लिमिटेड, आईडीएफसी लिमिटेड और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने मर्जर को जुलाई में मंजूरी दे दी थी।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस फैसले के बाद आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयरों में तेजी देखने को मिल सकती है। शनिवार को आईडीएफसी लिमिटेड और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयर बढ़त के साथ बंद हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *