इन्फोसिस के कारण ब्रिटेन के पीएम सुनक और उनकी पत्नी की बढ़ी दौलत

मुंबई- इन्‍फोसिस के कारण ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक और उनकी पत्‍नी अक्षता मूर्ति की रईसी बढ़ती जा रही है। दो साल पहले एनुअल ‘संडे टाइम्स रिच लिस्ट’ में पहली बार ब्रिटेन के प्रधानमंत्री और उनकी पत्नी ने जगह बनाई थी। इस लिस्‍ट के 2024 एडिशन में वे और ऊपर पहुंच गए हैं।

उनकी रैंकिंग में उछाल की वजह इन्‍फोसिस की आकर्षक शेयरहोल्डिंग है। सुनक और अक्षता दोनों की उम्र 44 साल है। यह कपल 65.1 करोड़ पाउंड की अनुमानित संपत्ति के साथ सूची में पिछले साल 275वें पायदान पर था। लिस्‍ट में अब यह चढ़कर 245वें स्थान पर पहुंच गया है। इसके साथ ही वे ब्रिटिश प्रधानमंत्री आवास ’10 डाउनिंग स्ट्रीट’ को अपना घर कहने वाले सबसे धनी लोग बन गए हैं। अक्षता इन्‍फोसिस के संस्‍थापक नारायण मूर्ति की बेटी हैं।

ऐसा कहा जाता है कि अक्षता मूर्ति की कमाई उनके पति से कहीं अधिक है। कारण है कि फरवरी में प्रकाशित वित्तीय विवरणों के हवाले से कहा गया है कि सुनक ने 2022-23 में 22 लाख ब्रिटिश पाउंड की कमाई की। जबकि पिछले वर्ष मूर्ति ने लाभांश के रूप में एक अनुमान के अनुसार 1.3 करोड़ ब्रिटिश पाउंड कमाए।

अखबार के विश्लेषण में कहा गया, ‘दंपती की सबसे मूल्यवान संपत्ति इन्‍फोसिस में मूर्ति की हिस्सेदारी है, जो बेंगलुरु स्थित आईटी कंपनी है, जिसकी सह-स्थापना मूर्ति के पिता (नारायण मूर्ति) ने की थी।’ ब्रिटेन के सबसे धनी परिवारों के वार्षिक संकलन में एक बार फिर भारतीय मूल के हिंदुजा परिवार को शीर्ष पर रखा गया है। उन्‍होंने सेंट्रल लंदन में अपने बिल्कुल नए लक्जरी ओडब्ल्यूओ होटल के उद्घाटन के मद्देनजर पिछले साल अपनी संपत्ति में बढ़ोतरी देखी जो 37.196 अरब ब्रिटिश पाउंड तक पहुंच गई।

इस साल की ‘संडे टाइम्स रिच लिस्ट’ के टॉप 10 में भारत में जन्मे भाइयों, डेविड और साइमन रूबेन भी शामिल हैं, जो पिछले साल के चौथे से ऊपर होकर अब तीसरे स्थान पर आ गए हैं। उनकी संपत्ति लगभग 24.977 अरब ब्रिटिश पाउंड होने का अनुमान है।

इस सूची में नंबर आठ पर अप्रवासी भारतीय कारोबारी आर्सेलर मित्तल के लक्ष्मी नारायण मित्तल है। उनकी अनुमानित संपत्ति 14.921 अरब ब्रिटिश पाउंड है। पिछले साल के मुकाबले वह सूची में दो स्थान नीचे आए हैं। वहीं, सूची में 23वें स्थान पर वेदांत रिसोर्सेज के उद्योगपति अनिल अग्रवाल हैं। उनकी अनुमानित संपत्ति सात अरब ब्रिटिश पाउंड है। वह भी 2023 के मुकाबले एक स्थान नीचे आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *