बिक सकती है हल्दीराम में हिस्सेदारी, 70,500 करोड़ रुपये आंका गया है मूल्य

मुंबई- नमकीन और मिठाई के लोकप्रिय ब्रांड हल्दीराम में हिस्सेदारी बिकने की खबर है। दुनिया की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्विटी कंपनी ब्लैकस्टोन की अगुवाई वाले समूह को टक्कर देने के लिए टेमासेक होल्डिंग्स और बेन कैपिटल ने हाथ मिला लिया है। इसे देश में अब तक का सबसे बड़ा प्राइवेट इक्विटी अधिग्रहण माना जा रहा है। हल्दीराम का मूल्यांकन 70,500 करोड़ रुपये आंका गया है।

बेन और टेमासेक ने पिछले हफ्ते पिछले हफ्ते नॉन-बाइंडिंग ऑफर सौंप दिया है। ब्लैकस्टोन ने कंपनी में 76% तक हिस्सेदारी खरीदने के लिए अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी यानी एडीआईए और सिंगापुर के सॉवरेन वेल्थ फंड जीआईसी के साथ हाथ मिलाया है। बेन पिछले सात महीनों में हल्दीराम को चलाने वाले अग्रवाल परिवार के बातचीत में लगा था। उसकी अग्रवाल परिवार के नागपुर और दिल्ली गुट के साथ बात हो रही थी। 2023 के आखिर में बेन के अधिकारियों ने हल्दीराम की फैक्ट्री का भी दौरा किया था।

अग्रवाल परिवार की योजना अब स्नैक्स को विलय कर रेस्तरां चेन के लिए अलग कंपनी बनाने की है। यह कंपनी परिवार के पास ही रहेगी। विलय को एनसीएलटी की मंजूरी मिल चुकी है। अग्रवाल परिवार की अगली पीढ़ी दूसरे कारोबार को आगे बढ़ाना चाहती है। हल्दीराम में हिस्सेदारी बेचने की योजना तीन-चार महीने में पूरी हो सकती है। हल्दीराम का कारोबार 100 से अधिक देशों में है। कंपनी 400 से अधिक तरह के खाद्य उत्पाद बेचती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *