वृद्धि को समर्थन देने के लिए वित्तीय प्रणाली से खिलवाड़ न करें- सान्याल

मुंबई- चालू वित्त वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था 4 लाख करोड़ डॉलर को पार कर जाएगी। इस आधार पर भारत जापान को पीछे छोड़ देगा। प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद यानी ईएसी-पीएम के सदस्य संजीव सान्याल ने कहा सात फीसदी की विकास दर भारत के लिए एक बेहतर दर होगी।

सान्याल ने बृहस्पतिवार को एक कार्यक्रम में कहा, जापान की जीडीपी 4.1 लाख करोड़ डॉलर है। भारत की फिलहाल 3.7 लाख करोड़ डॉलर है। 2027 तक भारत जर्मनी को पीछे छोड़कर तीसरे स्थान पर आ जाएगा। जर्मनी की जीडीपी 4.6 लाख करोड़ डॉलर है।

सान्याल के मुताबिक, हो सकता है अगले दो साल में हम जर्मनी को पीछे छोड़ दें। हमारा मानना है कि हम दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के करीब हैं। सान्याल ने तर्क दिया कि सरकार को आर्थिक वृद्धि को 8-9 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए किसी भी वित्तीय कदम पर जोर नहीं देना चाहिए। यदि आप इसे समझ गए, तो बढ़िया है। हमें 9 प्रतिशत को लेकर बहुत उत्साहित नहीं होना चाहिए। समय के साथ लगभग 7 प्रतिशत की वृद्धि एक बहुत अच्छी विकास दर है।

सान्याल ने कहा, किसी विशेष वर्ष में बहुत ऊंची विकास दर हासिल करने की कोशिश को लेकर भावुक न हों। उदाहरण के लिए दक्षिण पूर्व एशिया में अन्य देश भी हैं, जो 90 के दशक के मध्य में हमारी स्थिति में थे। इंडोनेशिया, थाईलैंड वगैरह कुछ समय तकबहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। फिर यह सब एशियाई संकट में शामिल हो गए। विकास को समर्थन देने की कोशिश में वित्तीय प्रणाली के साथ खिलवाड़ करने की कोई जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *