अब मोबाइल पर बात करना होगा महंगा, एयरटेल बढ़ा सकती है पैकेज

मुंबई- देश की दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल ने मोबाइल टैरिफ बढ़ाये जाने के संकेत देते हुए कहा है कि टैरिफ को ठीक किए जाने की जरूरत है। वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही के नतीजे घोषित किए जाने के बाद इंवेस्टर्स के साथ अर्निंग्स कॉल (Earnings Call) में भारती एयरटेल के एमडी गोपाल विट्टल ने कहा रिटर्न रेश्यो में सुधार के लिए टैरिफ रिपेयर किए जाने की जरूरत है और ये मायने नहीं रखता कि किस टेक्नोलॉजी से रेश्यो में सुधार होता है।

गोपाल विट्टल ने बताया कि भारती एयरटेल ने वित्त वर्ष 2023-24 में 16 रुपये एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर (ARPU) जोड़ने में कामयाब रहा है जो कि सभी टेलीकॉम कंपनियों में सबसे ज्यादा है। इसके पहले वित्त वर्ष के खत्म होने पर ARPU 193 रुपये था जो अब बढ़कर 208 रुपये हो गया है। इसी दौरान कंपनी ने पूरी इंडस्ट्री द्वारा टैरिफ बढ़ाये जाने पर जोर दिया है।

हाल के दिनों में कई ब्रोकरेज हाउस और इंवेस्टमेंट कंपनियों ने भी 4 जून 2024 को लोकसभा चुनाव के नतीजों के एलान के बाद मोबाइल टैरिफ के बढ़ने की भविष्यवाणी की है। बीओएफए सिक्योरिटीज (Bofa Securities) ने हाल ही में मोबाइल टैरिफ बढ़ाये जाने को लेकर रिसर्च पेपर जारी किया है। बीओएफए ने अपने अनुमान में कहा कि 20 से 25 फीसदी तक मोबाइल टैरिफ में बढ़ोतरी हो सकती है।

ब्रोकरेज हाउस ने कहा कि टैरिफ में बढ़ोतरी के चलते कैश फ्लो में सुधार होगा जिसे कंपनियां हाई मार्जिन वाले फाइबर ब्रॉडबैंड, एंटरप्राइज/डेटा सेंटर ऑफरिंग में निवेश करेंगे। नवंबर 2021 के बाद से टेलीकॉम कंपनियों ने मोबाइल टैरिफ में इजाफा नहीं किया है। बीओएफए के मुताबिक, हमारा मानना है कि इस बार सभी टेलीकॉम कंपनी टैरिफ बढ़ायेंगे जैसा पिछली बार नवंबर 2021 में देखने को मिला था।

रिपोर्ट में कहा गया कि कोई विकल्प ना होने के चलते कस्टमर्स 20 से 25 फीसदी तक टैरिफ में बढ़ोतरी का आराम से बर्दाश्त कर सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि एक बार टैरिफ हाईक होने के बाद जब कस्टमर्स को उसकी आदत हो जाएगी तो उसके 12 महीनों के बाद 5जी (5G) पर किए गए निवेश को भूनाने के लिए कंपनियां फिर से टैरिफ बढ़ा सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *