एअर इंडिया की मुश्किल बढ़ी, 200 कर्मचारी छुट्‌टी पर, 90 फ्लाइट हुई कैंसल

मुंबई- टाटा ग्रुप की एयरलाइन एअर इंडिया एक्सप्रेस की 90 से ज्यादा फ्लाइट कैंसिल होने के मामले में सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने एयरलाइन से रिपोर्ट मांगी है। विमानन मंत्रालय ने एयरलाइन से तेजी से मामले का समाधान करने को कहा है।

एअर इंडिया एक्सप्रेस के 200 से ज्यादा सीनियर क्रू-मेंबर्स के एक साथ छुट्टी पर चले जाने के कारण इस तरह की स्थिति बनी है। इन्होंने बीमारी को वजह बताकर छुट्टी ली है। केबिन क्रू मेंबर मिसमैनेजमेंट का विरोध कर रहे हैं।

एयर इंडिया एक्सप्रेस के कर्मचारियों और प्रबंधन के बीच विवाद बढ़ने से लगभग एक हफ्ते पहले रीजनल लेबर कमिश्नर ने एयरलाइन को पत्र लिखा था- इसमें कहा था कि शिकायतें वास्तविक है और HR डिपार्टमेंट ने सुलह अधिकारी को गुमराह करने की कोशिश की।

फ्लाइट कैंसिल होने के बाद एअर इंडिया एक्सप्रेस के प्रवक्ता ने बताया कि हमारे केबिन-क्रू ने मंगलवार रात अचानक बीमार होने की सूचना दी है, जिसके बाद कुछ उड़ानों में देरी हुई और कुछ रद्द कर दी गई हैं। हम क्रू से बातचीत कर रहे हैं ताकि यात्रियों की असुविधा कम हो सके।

एयरलाइन ने बताया कि उड़ानें रद्द होने से प्रभावित पैसेंजर्स को या तो एयरलाइन से पूरा रिफंड मिलेगा या वे बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के अपनी उड़ान को री-शेड्यूल्ड कर सकेंगे। इसके अलावा, प्रवक्ता ने बुधवार को एयरलाइन से उड़ान भरने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पहुंचने से पहले एयरलाइन से संपर्क करने की सलाह दी, ताकि वे फ्लाइट कंफर्म कर सकें।

अचानक फ्लाइट्स कैंसिल किए जाने से केरल के कई एयरपोर्ट पर पैसेंजर्स ने विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस ने एविएशन मंत्रालय से प्रभावित लोगों की समस्या हल करने और वैकल्पिक व्यवस्था करने को कहा है। राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वीडी सतीशन ने केंद्रीय सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र लिखकर तुरंत एक्शन लेने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *