वोडाफोन आइडिया का एफपीओ 5 गुना तक भरा, 90,000 करोड़ रुपये मिले

मुंबई- संकट के दौर से गुजर रही टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) का एफपीओ (follow-on public offering) 22 अप्रैल यानी अंतिम दिन 5 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ। शेयर बाजार में लगातार बनी रही अनिश्चितता के दौर में भी कंपनी के 18,000 करोड़ रुपये के FPO को आखिरी घंटे के दौरान शानदार सब्सक्रिप्शन मिला।

दोपहर 3:10 बजे तक, इश्यू को 5.04 गुना सब्सक्रिप्शन मिल चुका था। देश के अब तक के सबसे बड़े एफपीओ ने लगभग 63.5 अरब शेयरों के लिए बोलियां प्राप्त कीं, जबकि 12.6 अरब शेयरों को जारी किया गया था। इसमें 43.4 अरब बोलियां विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) से आईं। मुख्य बही में 60,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की बोलियां लगाई गई हैं।

FPO को योग्य संस्थागत खरीदार (QIB) से 14 गुना, हाई नेटवर्थ वाले इंडिविजुअल्स (HNI) से 3.4 गुना और रिटेल हिस्से से 0.7 गुना सब्सक्रिप्शन मिला। वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (VIL) ने पहले ही एंकर निवेशकों को 4.9 अरब शेयर अलॉट कर दिए हैं, जिसमें जीक्यूजी पार्टनर्स फिडेलिटी (GQG Partners Fidelity), स्टिचिंग (Stichting), रेडव्हील (Redwheel), मोतीलाल ओसवाल म्यूचुअल फंड और ट्रू कैपिटल (Troo Capital) शामिल हैं।

इसके साथ ही 11 रुपये के FPO प्राइस बैंड के अपर लेवल पर डिस्काउंट अब 10 फीसदी से भी कम है। FPO की आय और हाल ही में प्रमोटर आदित्य बिड़ला ग्रुप (Aditya Birla group) को दिए गए 2,075 करोड़ रुपये के तरजीही इश्यू (preferential issuance) से संकटग्रस्त टेलीकॉम ऑपरेटर को कुछ और वक्त मिलने की उम्मीद है और माना जा रहा है कि कंपनी फिर से अन्य टेलीकॉम ऑपरेटर्स के कंपटीशन में आ सकती है।

मौजूदा समय में, वोडाफोन आइडिया देश की सबसे बड़ी कर्जदार और वित्तीय रूप से तनावग्रस्त कंपनियों में से एक है, जिसका बकाया कर्ज (outstanding debt) करीब 2.38 लाख करोड़ रुपये और मार्च 2023 के अंत में 74,359 करोड़ की निगेटिव नेटवर्थ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *