सलमान खान को 10 गोलियां मारने का दिया गया था शूटरों को आदेश

मुंबई- बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के घर पर हुई फायरिंग मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। 10 दिनों की रिमांड पर भेजे गए दोनों शूटर्स ने पूछताछ में चौंका देने वाला खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि एक्टर के गैलेक्सी अपार्टमेंट पर चार नहीं, बल्कि 10 गोलियां खाली करने के ऑर्डर दिए गए थे।

अगर वो ऐसा करने में कामयाब हो जाते तो फेमस होने के साथ-साथ उन्हें अच्छा-खासा ईनाम भी मिलता। इस काम के लिए उन्हें 1 लाख रुपये मिले थे और काम होने के बाद 3 लाख रुपये और देने का वादा किया था। इस मामले में गवाह के तौर पर क्राइम ब्रांच जल्द ही सलमान का बयान दर्ज करेगी।

Salman Khan के बांद्रा स्थित घर पर कथित तौर पर गोलीबारी करने वाले बिहार के विक्की गुप्ता और सागर पाल को मंगलवार को गुजरात के भुज से 95 किलोमीटर दूर गिरफ्तार किया गया। इंस्पेक्टर दया नायक के नेतृत्व में मुंबई क्राइम ब्रांच की एक टीम ने विक्की और सागर को 37वें मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। बताया जाता है कि दोनों ने पुलिस को बताया कि जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के भाई अनमोल ने उन्हें काम पर रखा था।

उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि एक्टर को साल 1998 में जोधपुर के पास मथानिया के बावड़ में काले हिरण का शिकार करने के लिए दंडित किया जाए। उन्होंने कथित तौर पर पुलिस को बताया कि उन्हें एक्टर को डराने के लिए कहा गया था, जिसके लिए उन्हें लगभग 1 लाख रुपये मिले थे। काम हो जाने बाद तीन लाख रुपये और देने का वादा किया गया था।

ये भी बताया जा रहा है कि पुलिस तिहाड़ जेल से लॉरेंस बिश्नोई की पुलिस हिरासत की मांग करने के लिए अदालत का रुख कर सकती है और कनाडा में रहने वाले अनमोल के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर (एलओसी) जारी कर सकती है। अनमोल ने एक्टर को अप्रत्यक्ष रूप से धमकाने और गोलीबारी कराने की जिम्मेदारी ली थी।

पुलिस ने कहा कि अनमोल ने कथित तौर पर दोनों से कहा था कि अगर वे सलमान खान के घर पर गोलियों की दो पूरी मैगजीन दागने में सफल हो जाते हैं, तो वे न केवल फेम होंगे, बल्कि उन्हें उचित ईनाम भी दिया जाएगा। ज्वॉइंट पुलिस कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) लक्ष्मी गौतम ने कहा, ‘विक्की सिर्फ 10वीं पास है और सागर 8वीं। हम जांच कर रहे हैं कि क्या उनके खिलाफ कोई पिछला मामला है।

उन्होंने पैसों के लिए बिश्नोई के आदेश पर गोलीबारी की और शुरुआती जांच से पता चलता है कि उन्होंने तीन से चार बार रेकी की थी। उन्हें बांद्रा में ताज लैंड्स एंड के पास देखा गया था।’ लक्ष्मी गौतम ने ये भी बताया कि वे इस बात का पता लगा रहे हैं कि क्या महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट (MCOCA) लागू किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *