तीन दिन में सेंसेक्स 2,094 टूटकर 73,000 से नीचे, 7.93 लाख करोड़ स्वाहा

मुंबई- पश्चिमी एशिया खासकर इस्रायल और ईरान के बीच तनाव बढ़ने से भारतीय शेयर और मुद्रा बाजार में जमकर गिरावट आई है। तीन दिनों में जहां बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्स 2,094 अंक टूटकर 73,000 के नीचे पहुंच गया, वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी निफ्टी 606 अंक गिरकर 22,147 पर पहुंच गया। बाजार की इस गिरावट से कंपनियों की पूंजी में 7.93 लाख करोड़ रुपये की कमी आई है।

आंकड़ों के मुताबिक, सेंसेक्स बुधवार को 75,038 पर बंद हुआ था। बृहस्पतिवार को ईद की छुट्टी के बाद शुक्रवार को इसमें 793 अंक, सोमवार को 845 और मंगलवार को 456 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। इससे सेंसेक्स मंगलवार को 72,943 पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी इसी दौरान 234 अंक, 225 अंक और 124 अंक टूटकर 22,147 पर बंद हुआ।

बाजार की गिरावट से कंपनियों की पूंजी 7.93 लाख करोड़ घटकर 394.25 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई। बुधवार को यह 402 लाख करोड़ रुपये थी। मंगलवार को जिन शेयरों में ज्यादा गिरावट आई, उनमें इन्फोसिस, इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, विप्रो, एचसीएल और बजाज फाइनेंस के साथ टेक महिंद्रा रहे। बढ़ने वालों में प्रमुख रूप से एचडीएफसी बैंक, एचयूएल, मारुति, आईटीसी और पावरग्रिड रहे।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेस के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, देशों के बीच तनाव की आशंकाओं और अल्पावधि में दर में कटौती की संभावना में गिरावट के बीच, घरेलू बाजार ने लगातार तीसरे दिन कंसोलिडेशन के रुझान को बरकरार रखा है। अमेरिका में कम खपत के चलते चौथी तिमाही में आईटी कंपनियों की आय में गिरावट की आशंका है। इससे इन शेयरों की पिटाई हो रही है। आईटी इंडेक्स 2.32 फीसदी, टेक 2.09 फीसदी, बैंकेक्स 0.50 फीसदी और मेटल 0.36 फीसदी गिरकर बंद हुआ है।

इस्राइल और ईरान के बीच तनाव आगे भी जारी रहने की आशंका है। इस्राइली मिलिट्री के प्रमुख ने सोमवार को कहा कि ईरान के हमले का जवाब देने की हम तैयारी कर रहे हैं। हालांकि यह कब और कैसे होगा, इसकी कोई जानकारी नहीं दी है।

डॉलर की तुलना में रुपये में भी तीन दिनों से गिरावट जारी है। मंगलवार को यह 14 पैसा टूटकर यह 83.57 पर पहुंच गया। बुधवार को यह सात पैसा टूटकर 83.38 पर और शुक्रवार को 6 पैसा गिरकर 83.44 पर पहुंच गया था। ब्रेंट क्रूड भी गिरावट के साथ 90 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *