अदाणी समूह के शेयरों में निवेश कर एलआईसी ने कमाए 22,378 करोड़ रुपये

मुंबई- अडानी ग्रुप (Adani Group) के बारे में हिंडनबर्ग रिसर्च ने पिछले साल एक रिपोर्ट जारी की थी। इसके बाद ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट आई थी। ग्रुप में देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी (LIC) ने भी निवेश किया है। इस पर बवाल मचा था। लेकिन हाल के दिनों में अडानी ग्रुप के शेयरों में काफी तेजी आई है और इससे एलआईसी की भी अच्छी कमाई हुई है।

पिछले एक साल में अडानी ग्रुप की कंपनियों में एलआईसी के निवेश की वैल्यू में 59 फीसदी तेजी आई है। स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक 31 मार्च, 2024 को अडानी ग्रुप की कंपनियों में एलआईसी के निवेश की कीमत 38,471 करोड़ रुपये थी जो 31 मार्च, 2024 को 61,210 करोड़ रुपये पहुंच गई। इस तरह एलआईसी के निवेश की वैल्यू एक साल में 22,378 करोड़ रुपये बढ़ गई।

पिछले साल 25 जनवरी को अमेरिका की शॉर्ट सेलिंग फर्म हिंडनबर्ग रिसर्च ने एक रिपोर्ट जारी कर अडानी ग्रुप पर शेयरों की कीमत में हेरफेर करने का आरोप लगाया था। इस पर काफी हंगामा हुआ था और अडानी ग्रुप का मार्केट कैप करीब 150 अरब डॉलर गिर गया था। हालांकि अडानी ग्रुप ने इन आरोपों का खंडन किया था। लेकिन इस पर काफी राजनीतिक हंगामा हुआ था। इस कारण एलआईसी ने अडानी ग्रुप की दो कंपनियों अडानी पोर्ट्स और अडानी एंटरप्राइजेज में अपनी हिस्सेदारी कम की थी। पिछले एक साल में इन दो कंपनियों के शेयरों में क्रमश: 83 फीसदी और 68.4 फीसदी की तेजी आई है।

अडानी ग्रुप की कंपनियों में निवेश घटाने के बावजूद फाइनेंशियल ईयर 2024 में 59 फीसदी की तेजी आई। इस दौरान अडानी एंटरप्राइजेज में एलआईसी के इन्वेस्टमेंट की वैल्यू 8,495.31 करोड़ रुपये से बढ़कर 14,305.53 करोड़ रुपये पहुंच गई। इस दौरान अडानी पोर्ट्स में एलआईसी का निवेश 12,450.09 करोड़ रुपये से बढ़कर 22,776.89 करोड़ रुपये पहुंच गया।

अडानी ग्रीन एनर्जी में एलआईसी का निवेश फाइनेंशियल ईयर 2024 में दोगुना होकर 3,937.62 करोड रुपये हो गया। अडानी टोटल गैस, अंबूजा सीमेंट्स और एसीसी में भी एलआईसी के निवेश की कीमत बढ़ गई। अडानी ग्रुप की दस लिस्टेड कंपनियां हैं और ग्रुप का कारोबार कई सेक्टर्स में फैला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *