लोकसभा चुनाव के बाद 17 फीसदी तक महंगा होगा मोबाइल से बात करना

मुंबई- लोकसभा चुनाव के बाद देश में फोन की टैरिफ में 15-17 फीसदी तक इजाफा हो सकता है। इसका सबसे अधिक फायदा एयरटेल को होगा। एंटिक स्टॉक ब्रोकिंग ने एक रिपोर्ट में कहा, हमें उम्मीद है कि दूरसंचार कंपनियां 17 फीसदी तक टैरिफ बढ़ा सकती हैं। लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से एक जून तक होंगे। चार जून को परिणाम आएगा।

दूरसंचार उद्योग ने टैरिफ में अंतिम बढ़ोतरी दिसंबर, 2021 में 20 फीसदी की थी। दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल की मौजूदा प्रति ग्राहक कमाई 208 रुपये है। वित्त वर्ष 27 के अंत तक यह 286 रुपये तक जा सकती है। एयरटेल के ग्राहकों की संख्या सालाना दो फीसदी बढ़ सकती है, जबकि उद्योग की वृद्धि एक फीसदी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2027 से शुरू होने वाले पांच वर्षों में लगभग 75,000 करोड़ रुपये का कंपनियां निवेश करेंगी। हालांकि, वायरलेस व्यवसाय के लिए लगभग 19,000-20,000 करोड़ रुपये सालाना के वर्तमान निवेश की तुलना में यह कम होगा। राजस्व के प्रतिशत के रूप में यह ज्यादा गिरावट है।

टैरिफ बढ़ने के असर को आप ऐसे समझ सकते हैं। मान लीजिए अभी आप कोई रिचार्ज 100 रुपये का करा रहे हैं। जून के बाद इसी 100 के लिए आपको 117 रुपये देने होंगे। अगर आप 84 दिन का कोई 700 रुपये का प्लान रिचार्ज करा रहे हैं तो इसके लिए आपको अब 819 रुपये देने होंगे। यानी साल भर में इस प्लान के लिए 476 रुपये अतिरिक्त चुकाने होंगे।

रिपोर्ट के अनुसार, दो प्रमुख दूरसंचार कंपनियों रिलायंस जियो और एयरटेल ग्राहकों की संख्या बढ़ा रही हैं। वोडाफोन आइडिया और बीएसएनएल ग्राहक गंवा रही हैैं। वोडाफोन आइडिया जल्द ही 20,000 करोड़ रुपये का फॉलोऑन पब्लिक ऑफर ला सकती हैं। इसकी बाजार हिस्सेदारी सितंबर 2018 में 37.2 प्रतिशत से घटकर दिसंबर 2023 में आधा 19.3 प्रतिशत रह गई है। एयरटेल की हिस्सेदारी 29.4 प्रतिशत से बढ़कर 33 प्रतिशत व जियो की 21.6 प्रतिशत से बढ़कर 39.7 प्रतिशत हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *