फ्लाइट में देरी हुई तो यात्री अब एयरपोर्ट से आ सकेंगे बाहर, नया नियम लागू

मुंबई- पैसेंजर अब फ्लाइट में बोडिंग के बाद लंबे समय तक उड़ान नहीं भरने की स्थिति पर उससे बाहर निकल सकेंगे। एविएशन सेफ्टी को देखने वाली संस्था ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (BCAS) इसके लिए 30 मार्च को एक गाइडलाइन जारी की थी, जो अब लागू हो गई है।

BCAS के डायरेक्टर जनरल जुल्फिकार हसन ने आज 38वें स्थापना दिवस पर बोलते हुए इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस गाइडलाइन से पैसेंजर्स की परेशानी कम होगी और उन्हें फ्लाइट में बैठने के बाद घंटो तक उसमें नहीं बैठे रहना पड़ेगा। फ्लाइट की उड़ान में लंबी देरी होने या फ्लाइट में बैठने के बाद आपात स्थितियों में पैसेंजर्स को एयरपोर्ट के डिपार्चर गेट से बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी।

जुल्फिकार हसन ने कहा,’एयरपोर्ट ऑपरेटर्स को गाइडलाइन को लागू करने के लिए स्क्रीनिंग के साथ ही बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर की व्यवस्था करनी होगी। पैसेंजर्स को फ्लाइट से उतारने का निर्णय एयरलाइंस और उससे जुड़ी सिक्योरिटी एजेंसी ले सकेंगी।’

BCAS ने यह गाइडलाइन इसी साल जनवरी महीने में मुंबई एयरपोर्ट के टारमैक पर डिनर करने की घटना के बाद जारी की है। दरअसल, 14 जनवरी को इंडिगो की गोवा से दिल्ली जा रही फ्लाइट 6E2195 12 घंटे लेट उड़ान भरने के बाद मुंबई डायवर्ट कर दी गई थी।

फ्लाइट की देरी से पैसेंजर्स नाराज थे। मुंबई एयरपोर्ट पर वे फ्लाइट से उतरे और टारमैक पर बैठ गए। जमीन पर बैठकर पैसेंजर्स ने डिनर किया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके चलते ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (BCAS) ने इंडिगो पर 1.20 करोड़ और मुंबई एयरपोर्ट पर 60 लाख रुपए का जुर्माना लगाया था। 14 जनवरी को गोवा से दिल्ली जाने वाली फ्लाइट 12 घंटे लेट होने के बाद मुंबई डायवर्ट कर दी गई। इससे नाराज पैसेंजर्स एयक्राफ्ट पार्किंग में बैठकर खाना खाने लगे थे।

इसी साल जनवरी महीने में गोवा जाने वाली इंडिगो की फ्लाइट (6E-2175) के पैसेंजर ने पायलट को थप्पड़ मारा था। इसे सुबह 7.40 बजे उड़ान भरनी थी, जो कोहरे के कारण लेट हुई थी। घटना का एक वीडियो सामने आया था। इसमें पीले रंग की हुडी पहने पैसेंजर सीट से उठकर पायलट के पास गया और थप्पड़ मारने के बाद कहा था- चलाना है तो चला नहीं तो खोल गेट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *