अगले दशक में भारत हासिल कर सकता है 10 फीसदी विकास दर- आरबीआई

मुंबई- भारत अगले दशक में 10 फीसदी की विकास दर को हासिल कर सकता है। आरबीआई के उप गवर्नर माइकल देबब्रत पात्रा ने कहा, इस आधार पर 2032 तक यह दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। 2050 तक यह विश्व में पहले स्थान पर होगा।

पात्रा ने जापान में पिछले दिनों एक कार्यक्रम में कहा, भारत की विकास प्रवृत्ति महामारी के बाद के बदलाव के शिखर पर है। इसके शुरुआती संकेत 2000 के दशक के दौरान 7 प्रतिशत से ऊपर बढ़ने के हैं। भारत के हालिया विकास प्रदर्शन ने कई लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया है। उदाहरण के लिए, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने अप्रैल 2023 और जनवरी 2024 के लिए विकास दर के अपने पूर्वानुमान को 0.80 फीसदी बढ़ा दिया है।

आईएमएफ को उम्मीद है कि भारत वैश्विक विकास में 16 प्रतिशत का योगदान देगा, जो बाजार विनिमय दरों के मामले में दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा हिस्सा है। भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। आगामी दशक में जर्मनी और जापान से आगे निकलने की स्थिति में है।

पात्रा ने कहा, महामारी, मौसम से प्रेरित खाद्य कीमतों में बढ़ोतरी, आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान और रूस-यूक्रेन संघर्ष के बाद वैश्विक स्तर पर महंगाई बढ़ी थी। भारत में अब यह कम होने लगी है। सितंबर 2023 से महंगाई दर छह फीसदी से नीचे है जो आरबीआई का दो फीसदी घटबढ़ के साथ का तय दायरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *