रेमंड के पूर्व मालिक विजयपत ने कहा, बेटे ने धोखा देकर फोटो खिंचवा ली

मुंबई- रेमंड ग्रुप के चेयरमैन गौतम सिंघानिया के पिता विजयपत सिंघानिया ने अपने बेटे के साथ सुलह की सभी अटकलों को खारिज कर दिया है। दरअसल, 6 दिन पहले 20 मार्च को गौतम सिंघानिया ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म X पर अपने पिता के साथ एक तस्वीर शेयर की थी।

इसके साथ ही उन्होंने लिखा था,’आज अपने पिता को घर पर पाकर और उनका आशीर्वाद पाकर खुश हूं। आपके सदैव अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं पापा।’ अब विजयपत ने दावा किया कि उनके बेटे ने उन्हें जेके हाउस में मिलने के लिए मजबूर किया था। वहीं, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर एक ‘गुप्त उद्देश्य’ के तहत खींची गई।

विजयपत सिंघानिया ने कहा कि 20 मार्च को जब वह एयरपोर्ट जा रहे थे तब उनके बेटे के असिस्टेंट ने उन्हें फोन किया। वह बार-बार मुझे जेके हाउस आने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा था। जब मैंने मना कर दिया, तो गौतम खुद कॉल पर आए और वह एक कप कॉफी के लिए मुझसे सिर्फ 5 मिनट का समय मांगा।

विजयपत ने कहा कि मैं वहां बिना इच्छा के गया। मैं यह पता नहीं था कि इस मुलाकात का उद्देश्य गौतम के साथ मेरी तस्वीर लेकर मीडिया को एक गलत मैसेज देना था। कुछ मिनट बाद मैं नीचे आया और एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गया। इसके तुरंत बाद मुझे इंटरनेट पर गौतम के साथ मेरी तस्वीर पर मैसेज मिलने लगे। उसमें दावा किया गया कि हमने सुलह कर ली है, जो पूरी तरह से गलत है।

विजयपत ने कहा कि मुझे नहीं पता कि उसका असली मकसद क्या था, लेकिन यह निश्चित रूप से कॉफी पीने या अपने मतभेदों को सुलझाने के लिए नहीं था। सच तो यह है कि 10 साल में यह पहली बार है जब मैं जेके हाउस में गया हूं और मुझे नहीं लगता कि मैं वहां दोबारा जाऊंगा। साल 2017 में गौतम सिंघानिया ने अपने पिता विजयपत सिंघानिया को उन्हीं के घर जेके हाउस से निकाल दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *