इसलिए ज्वाला सिंह की अकादमी से बेहतर खिलाड़ी निकलते हैं दिनेश लाड की कोचिंग से

मुंबई। वैसे तो क्रिकेट की दुनिया में हजारों चेहरे हैं, लेकिन कुछ ही ऐसे होते हैं जो वैश्विक स्तर पर अपनी अमिट छाप छोड़ देते हैं। यह अलग बात है कि आईपीएल जैसी लीग से बहुत सारे फटफटिया क्रिकेटर भी पैदा होते हैं, लेकिन वन डे और टेस्ट जैसी मैचों से बहुत ही कम सितारे होते हैं जो फेमस होते हैं और इनको फेमस करने में अगर किसी का हाथ होता है तो वह उसकी अकादमी का होता है। चाहे वह सचिन तेंदुलकर के कोच रमाकांत आचरेकर हों, या फिर आज के रोहित शर्मा के कोच दिनेश लाड हों।

मुंबई जैसे शहर में वैसे तो कई अकादमी हैं, लेकिन इस समय चर्चा में दिनेश लाड की अकादमी है जिन्होंने रोहित शर्मा जैसे प्लेयर दिए हैं। उनको हाल में राज्य सरकार ने मुंबई के उपनगर बोरिवली में जगह मुहैया कराई है, जहां वह क्रिकेट अकादमी स्थापित कर रहे हैं। दिनेश लाड के बेटे खुद रणजी के बेस्ट प्लेयर हैं। कहा जाता है कि मुंबई जैसे शहर में दिनेश लाड की अकादमी एक जानी मानी अकादमी है।

उधर, दूसरी ओर ज्वाला सिंह की भी अकादमी है। लेकिन यहां महज यशस्वी जायसवाल जैसे ही क्रिकेटर हो सके हैं। हालांकि, यहां का जो अनुभव है, वह बहुत ही बुरा है। अकादमी भले ज्वाला सिंह चला रहे हैं, पर आप जब अकादमी में एडमिशन के लिए जाएँगे तो एकदम ही बिन अनुभवी आपको ट्रीट किया जाएगा। न ही यहां पर कोई डिसिप्लीन है, और न ही आपको गाइड करने वाला। हो सकता है कि आपको घंटों बिठाने के बाद बोल दिया जाए कि आप ट्रायल के लिए फिट नहीं हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में शहर में इस अकादमी को लेकर बहुत ही बुरा अनुभव अभिभावकों का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *