सात पर्सेंट की दर से बढ़ सकती है देश की जीडीपी, लेकिन चीन से रहेगा पीछे

मुंबई- भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी (IT) कंपनी इंफोसिस के फाउंडर नारायणमूर्ति (N. R. Narayana Murthy) ने एक ऐसा काम कर दिया जो पूरे देश में चर्चा का मुद्दा बन गया। नारायणमूर्ति ने अपने चार महीने के पोते एकाग्रह रोहन मूर्ति को 240 करोड़ रुपये की शेयरों में हिस्सेदारी देकर भारत का सबसे कम उम्र वाला करोड़पति बना दिया।

BSE की फाइलिंग के मुताबिक, भारत में सबसे कम उम्र में करोड़पति बनने वाले एकाग्रह रोहन सिंह की इंफोसिस कंपनी में 15 लाख शेयरों की हिस्सेदारी हो गई है। इसके साथ ही एकाग्रह अब इंफोसिस के 0.04 फीसदी हिस्सेदार होंगे।

6.65 लाख करोड़ रुपये के मार्केट कैप वाली कंपनी यानी इंफोसिस में इन दिनों विदेशी संस्थागत निवेशकों (FIIs) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (DIIs) जमकर शेयरों की बिकवाली कर रहे हैं, जिसका असर IT शेयरों पर भी देखने को मिलेगा। Infosys के शेयरों की बात की जाए तो इसने निवेशकों को एक साल में करीब 14 फीसदी का रिटर्न दिया है।

गौरतलब है कि नारायणमूर्ति और उनकी पत्नी सुधा मूर्ति की दो संतानें हैं। एक बेटा रोहन मूर्ति और एक बेटी अक्षता मूर्ति, जिनके पति इंगलैंड के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक हैं। एकाग्रह रोहन मूर्ति रोहन मूर्ति और अपर्णा कृष्णन (Aparna Krishnan) के बेटे हैं। नवंबर 2023 में ही उनका जन्म हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *