इस बल्ब से 30 फीसदी बिजली की होगी बचत, बहुत सस्ते में मिल रहा है  

मुंबई- ईईएसएल ने मंगलवार को छह वाट के एलईडी बल्ब की पेशकश की। इसके साथ उसने अपने उत्पाद पोर्टफोलियो के विस्तार की घोषणा भी की। ईईएसएल ऊर्जा बचत समाधान मुहैया कराने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है। कंपनी ने कहा कि इस बल्ब से बिजली की खपत में लगभग 30 फीसदी की बचत होगी।

एक बयान के अनुसार, एलईडी बल्ब किफायती प्रकाश योजना ‘उजाला’ के तहत उपभोक्ताओं को मिलेगा। एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) ने कहा कि ऊर्जा-कुशल उत्पादों तक व्यापक पहुंच के लिए एलईडी बल्ब, एलईडी ट्यूब लाइट और बीएलडीसी पंखों की निविदा की प्रक्रिया पूरी हो गई है। ईईसीएल बिजली मंत्रालय के तहत एक संयुक्त उद्यम है। ये उत्पाद ईईएसएल मार्ट के जरिये उपभोक्ताओं को मिलेंगे, जो टिकाऊ उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए समर्पित एक ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म है।

ईईएसएल के सीईओ विशाल कपूर ने कहा, ‘हमारा लक्ष्य अपने मजबूत खुदरा नेटवर्क और रणनीतिक साझेदारी के जरिये इन ऊर्जा-दक्ष उत्पादों को देश के हर घर तक पहुंचाना है।’ उजाला योजना को ऊर्जा ज्‍योति योजना भी कहा जाता है। यह भारत सरकार की एक पहल है जो बिजली की बचत को बढ़ावा देने और ऊर्जा दक्षता को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना का शुभारंभ 5 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

इस स्‍कीम का मुख्य उद्देश्य घरों में इस्तेमाल होने वाले पुराने और कम ऊर्जा दक्षता वाले बल्बों को एलईडी बल्बों से बदलना है। एलईडी बल्ब पारंपरिक बल्बों की तुलना में 80% तक कम बिजली खर्च करते हैं। इससे बिजली की बचत होती है। साथ ही ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में भी कमी आती है। उजाला स्‍कीम के तहत सरकार एलईडी बल्बों को सब्सिडी पर उपलब्ध कराती है। उपभोक्ता इन बल्बों को अपने नजदीकी डीलर या बिजली वितरण कंपनी (डिस्कॉम) से खरीद सकते हैं। उजाला योजना के तहत अब तक 9W, 7W और 5W के LED बल्ब उलपब्‍ध थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *