टाटा समूह की कंपनियों का मार्केट कैप अब 32 लाख करोड़ रुपये के पार हुआ

मुंबई- टाटा सन्स की लिस्टिंग की खबर ने बाजार में टाटा समूह के लिए काफी पॉजिटिव सेंटिमेंट बनाया है। महज 9 कारोबारी दिनों में टाटा ग्रुप की कंपनियों की वैल्यू 2 लाख करोड़ रुपये बढ़ गई है। टाटा ग्रुप का मार्केट कैप अब 32 लाख करोड़ रुपये की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच चुका है।

टाटा ग्रुप की लिस्टेड 18 कंपनियों में से 17 के शेयरों में तेजी देखी जा रही है। तो वहीं ग्रुप की सात कंपनियों के शेयर ऐसे है जो रिकॉर्ड हाई पर पहुंचे हैं। टाटा ग्रुप के सात स्टॉक्स- टाटा स्टील, टाटा पावर, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स, टाटा कम्यूनिकेशंस, टाटा केमिकल्स, टाटा इनवेस्टमेंट कॉरपोरेशन और ऑटोमोबाइल कॉरपोरेशन ऑफ गोवा लिमिटेड (ACGL) गुरुवार को इंट्रा-डे में रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए।

रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody’s) ने बुधवार को जानकारी दी कि उसने टाटा मोटर्स की रेटिंग को बीए3 पर बरकरार रखा है। मूडीज ने आउटलुक को भी पॉजिटिव बनाए रखा है। Moody’s ने यह रेटिंग टाटा मोटर्स के कारोबार को दो अलग-अलग हिस्सों में बांटने की मंजूरी देने के बाद दी है।

बता दें कि टाटा मोटर्स डीमर्जर के माध्यम से आने वाले समय में कमर्शियल व्हीकल बिजनेस और पैसेंजर व्हीकल बिजनेस को अलग करेगी। मूडीज ने कंपनी को लेकर आउटलुक भी पॉजिटिव रखा है। रेटिंग एजेंसी ने एक बयान में कहा कि Moody’s के पॉजिटिव आउलुक से यह बात साफ है कि टाटा मोटर्स की रेटिंग अपग्रेड को लेकर सकारात्मक माहौल है भले ही कंपनी का डीमर्जर हो या न हो।

मूडीज को उम्मीद है कि टीएमएल के सभी व्यवसाय एक संतुलित वित्तीय नीति बनाए रखते हुए अपनी रणनीतिक ग्रोथ से जुड़ी प्राथमिकताओं को जारी रखना जारी रखेंगे, जो मार्च 2025 तक नेट-जीरो ऑटोमोटिव डेट को हासिल कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *