2031 तक हर व्यक्ति जीडीपी 3.70 लाख रुपये होगी, 7 लाख करोड़ होगी

मुंबई- शानदार इकोनॉमिक ग्रोथ की बदौलत साल 2031 तक भारत अपर मिडिल-इनकम स्टेटस (Upper Middle-Income Status) का दर्जा हासिल कर सकता है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल (Crisil) ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था मौजूदा लेवल से दोगुनी 7 ट्रिलियन डॉलर के पार चला जाएगा. इस ग्रोथ को हासिल करने के बाद अपर मिडिल-क्लास स्टेटस हासिल कर लेगा। 

क्रिसिल ने इंडिया आउटलुक रिपोर्ट तैयार किया है जिसके मुताबिक भारत की आर्थिक तरक्की उसके घरेलू स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स की दिशा में उठाये गए कदम और दूसरे फैक्टर्स के चलते देखने को मिलेगा। क्रिसिल का अनुमान है कि भारत उनके ग्रोथ के अनुमानों को पार करते हुए 2031 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा।

क्रिसिल के रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान भारत का जीडीपी ग्रोथ रेट 7.6 फीसदी से बेहतर रह सकता है हालांकि अगले वित्त वर्ष 2024-25 में उसमें थोड़ी कमी आएगी और आर्थिक विकास दर 6.8 फीसदी रहने का अनुमान है। क्रिसिल के मुताबिक अगले सात वित्त वर्ष 2025 से 2031 के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था पहले 5 ट्रिलियन डॉलर के लक्ष्य को पार करेगी और उसके बाद 7 ट्रिलियन डॉलर इकोनमी के करीब जा पहुंचेगी।

मौजूदा समय में भारत 3.6 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के साथ दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था है और अमेरिका, चीन, जापान और जर्मनी उससे बड़ी अर्थव्यवस्था है। इस रिपोर्ट के मुताबिक इस अवधि के दौरान भारत औसतन 6.7 फीसदी के दर से विकास करेगा जो भारत को दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बना देगा और उसके प्रति व्यक्ति आय को 2031 तक अपर मिडिल-इनकम कैटगरी तक ले जाएगा।

2031 तक भारत का प्रति व्यक्ति आय 4500 डॉलर हो जाएगी जिसके चलते वो अपर मिडिल-इनकम कैटगरी वाले देश में शामिल हो जाएगा। वर्ल्ड बैंक के मुताबिक 1000 से 4000 डॉलर प्रति व्यक्ति आय वाले देश लोअर-मिडिल इनकम कैटगरी में आते हैं जो 4000 से 12000 डॉलर प्रति व्यक्ति आय वाला देश अपर-मिडिल इनकम कैटगरी में आता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *