7 साल में जियो का टेलीकॉम में आधा हिस्सा, कई कंपनियों को बंद कराया

मुंबई- टेलीकॉम सेक्‍टर में जियो की एंट्री 2016 में हुई थी। इसने पूरे टेलीकॉम सेक्‍टर की सूरत बदल दी। मुकेश अंबानी की ताकत लेकर उतरी जियो के सामने कई पुरानी कंपनियां फूस की तरह उड़ गईं। कंपनी की लॉन्चिंग से आधा दर्जन से ज्‍यादा इंटरनेट सर्विस प्रोइवाइडर अपनी दुकान बंद कर चुके हैं।

जिन कंपनियों का कारोबार बंद हुआ उनमें वीडियोकॉन, एमटीएस, एयरसेल, टेलीनॉर, टाटा डोकोमो इत्‍यादि शामिल हैं। आज की तारीख में जियो सबसे बड़ी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर है। इसका मार्केट शेयर आधे से ज्‍यादा है। यानी अपनी एंट्री से सिर्फ 8 साल में इसने सबसे बड़ा मार्केट शेयर हासिल कर लिया है।

इस क्षेत्र में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी सुनील मित्‍तल की एयरटेल है। मार्केट शेयर के लिहाज से उसकी हिस्‍सेदारी करीब 28 फीसदी है। जियो और एयरटेल के मार्केट शेयर में अंतर यह बताने के लिए काफी है कि मुकेश अंबानी की कंपनी सेक्‍टर में किस तरह हावी है।

बीते तीन दिनों से मुकेश के छोटे बेटे अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट के प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन की चर्चा है। इस फंक्‍शन में देश-दुनिया की जानी-मानी हस्‍त‍ियों ने शिरकत की। यह मुकेश अंबानी की बढ़ती ताकत को भी दिखाता है जो पेट्रोलियम क्षेत्र से निकलकर अब टेक्‍नोलॉजी और इनोवेशन जैसे क्षेत्रों तक पहुंच चुकी है। इसकी सबसे बड़ी मिसाल जियो है। जियो की एंट्री होते ही सेक्‍टर में त्राहिमाम होने लगा था।

2016 में इस कंपनी की लॉन्चिंग के बाद से आधा दर्जन से ज्‍यादा सर्विस प्रोवाइडर अपनी दुकानों पर ताला जड़ चुके हैं। इनमें एयरसेल, रिलायंस कम्युनिकेशंस (अनिल अंबानी), टाटा टेलीसर्विसेज, डोकोमो, एमटीएस, वीडियोकॉन, यूनिनॉर शामिल हैं। देश में अभी करीब 86 करोड़ इंटरनेट यूजर्स हैं। इसमें जियो का मार्केट शेयर 51.98 फीसदी है। 28.79 फीसदी मार्केट शेयर के साथ दूसरे नंबर पर एयरटेल है। वोडाफोन आइडिया तीसरे पायदान (14.5 फीसदी) पर है। बीएसएनएल, एससीटी और अन्‍य के पास बाकी की बाजार हिस्‍सेदारी है।

सस्ते डेटा और मुफ्त कॉलिंग, व्यापक 4G कवरेज, डिजिटल सेवाओं पर फोकस, मजबूत ब्रांडिंग, आक्रामक मार्केटिंग, नए उत्पाद और सेवाओं के साथ कस्‍टमर सर्विस पर ध्‍यान देकर जियो ने पूरा परिदृश्‍य ही बदल डाला। उसने दूसरी कंपनियों को कारोबार के तरीके बदलने पर मजबूर कर दिया। जो ऐसा कर पाईं वो सेक्‍टर में टिक पाईं। जो नहीं कर सकीं वो जियो के तूफान में उड़ गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *