आईआईएफएल का सोना शुद्ध नहीं, वजन में गड़बड़ी, आरबीआई की पाबंदी

मुंबई- भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने IIFL फाइनेंस लिमिटेड पर सोने के बदले कर्ज की मंजूरी या वितरण पर सोमवार को तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी। सोना गिरवी रखकर कर्ज देने के मामले में कुछ चिंताएं सामने आने के बाद यह कदम उठाया गया।

हालांकि, RBI ने एक बयान में कहा कि IIFL फाइनेंस सामान्य संग्रह और वसूली प्रक्रियाओं के माध्यम से अपने मौजूदा गोल्ड लोन कारोबार को जारी रख सकता है। बयान के मुताबिक, ‘‘RBI ने IIFL फाइनेंस लि. को निर्देश दिया है कि वह तत्काल प्रभाव से स्वर्ण कर्ज को मंजूरी देने या वितरित करने या अपने किसी भी गोल्ड लोन को असाइन/प्रतिभूतिकरण या बिक्री करना करना बंद करे।

केंद्रीय बैंक ने कहा, ‘‘कंपनी के गोल्ड लोन पोर्टफोलियो में निगरानी स्तर पर कुछ चिंताएं पाई गईं। इनमें कर्ज की मंजूरी के समय और चूक पर नीलामी के समय सोने की शुद्धता और शुद्ध वजन की जांच और सत्यापन के मामले में खामियां शामिल हैं।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि नियामकीय उल्लंघन होने के अलावा, ये गतिविधियां ग्राहकों के हितों को भी प्रभावित करती हैं। बयान के अनुसार, RBI का एक विशेष ऑडिट पूरा होने पर और विशेष ऑडिट निष्कर्षों तथा RBI निरीक्षण तथ्यों में कंपनी के संतुष्टिजनक समाधान के बाद इन प्रतिबंधों की समीक्षा की जाएगी। आईआईएफएल फाइनेंस लोन बांटने और वसूली के दौरान भी नियमों से अधिक कैश का इस्तेमाल कर रही थी. इसके अलावा कस्टमर्स पर लगने वाले शुल्क को लेकर भी पारदर्शिता नहीं बरती जा रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *