बिटकॉइन फिर पकड़ रही है रफ्तार, इसकी कीमत 60,000 डॉलर के पार हुई

मुंबई- दुनिया की सबसे बड़ी, सबसे लोकप्रिय और सबसे पुरानी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की कीमत में एक बार फिर दिख रही है। बुधवार को कारोबार के दौरान इसकी कीमत 60,000 डॉलर पहुंच गई थी। नवंबर 2021 के बाद यह पहला मौका है जब बिटकॉइन की कीमत इस स्तर पर पहुंची है। इसका ऑल टाइम हाई 69,000 डॉलर है।

बिटकॉइन नवंबर 2021 में इस स्तर पर पहुंची थी। पिछले एक महीने में इसकी कीमत में करीब 41 फीसदी तेजी आई है। पिछले महीने 28 जनवरी को इसकी कीमत 42,034 डॉलर थी। केवल पांच दिन में इसकी कीमत में 20% तेजी आई है और यह अब अपने ऑल-टाइम हाई से केवल 15 परसेंट दूर रह गई है। अमेरिका के सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ने बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स को पिछले हफ्ते हरी झंडी दी थी। इसके बाद से क्रिप्टोकरेंसी में अरबों डॉलर का निवेश आया है।

बुधवार को बिटकॉइन ईटीएफ का ट्रेडिंग वॉल्यूम भी 7.5 अरब डॉलर के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुनिया का सबसे वैल्यूएल कंपनी माइक्रोसॉफ्ट का एवरेज डेली वॉल्यूम 10 अरब डॉलर है। इससे पहले इसका एक दिन के ट्रेडिंग वॉल्यूम का रेकॉर्ड तीन अरब डॉलर था। सबसे ज्यादा 3.3 अरब डॉलर का ट्रेडिंग वॉल्यूम ब्लैकरॉक पर देखने को मिला।

रूस-यूक्रेन के बाद इजरायल और हमास के बीच संघर्ष बना हुआ है। इससे निवेशक अपने पोर्टफोलियो को डाइवरसिफाई करना चाहते हैं। कुछ निवेशकों ने बिटकॉइन का रुख किया है जिसे डिजिटल इन्वेस्टमेंट का सुरक्षित ठिकाना माना जाता है। बिटकॉइन को डिजिटल गोल्ड भी कहा जाता है। साल 2009 में जब बिटकॉइन लॉन्च हुई थी तब इसकी कीमत मात्र 0.060 रुपये थी। इसकी कीमत में पहली बार तेजी साल 2010 में आई थी जब इसकी कीमत 0.0008 डॉलर से बढ़कर 0.08 डॉलर पहुंची थी। इसके बाद अप्रैल 2011 में इसकी कीमत एक डॉलर थी जो जून में बढ़कर 32 डॉलर हो गई।

2019 में इसका भाव 10 हजार डॉलर के पास था। वहीं, जनवरी 2021 में इसने 40 हजार डॉलर का आंकड़ा पार कर लिया और फिर उसी साल नवंबर में यह रेकॉर्ड हाई पर पहुंच गई थी। बिटकॉइन के वर्चुअल क्रिएटर सतोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) ने 28 अक्टूबर, 2008 को इसका व्हाइटपेपर जारी किया था लेकिन इसकी मिंट डेट तीन जनवरी, 2009 थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *