अनिल अंबानी की दिवालिया कंपनी रिलायंस कैपिटल को खरीदेगा हिंदुजा समूह

मुंबई-अनिल अंबानी की दिवालिया कंपनी रिलायंस कैपिटल को हिंदुजा ग्रुप खरीदेगा। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने मंगलवार को हिंदुजा ग्रुप की इंडसइंड इंटरनेशनल होल्डिंग्स लिमिटेड (IIHL) को रिलायंस कैपिटल के अधिग्रहण की मंजूरी दे दी है।

अनिल अंबानी की कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में यह जानकारी दी है। हालांकि, कंपनी की ओर से फाइनेंशियल डीटेल के बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी गई है। ट्रिब्यूनल ने 11 जनवरी को इस मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

मुंबई की बैंकरप्सी कोर्ट ने इंसॉल्वेंसी रेसॉल्यूशन प्रोसेस (दिवालिया समाधान प्रक्रिया) के जरिए IIHL के अधिग्रहण प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इकोनॉमिक्स टाइम्स के अनुसार, न्यायमूर्ति वीरेंद्र सिंह बिष्ट और टेक्निकल मेंबर प्रभात कुमार की खंडपीठ ने मौखिक आदेश में योजना को मंजूरी दी है। डीटेल ऑर्डर का अभी इंतजार है।

पिछले साल जुलाई में IIHL ने रिलायंस कैपिटल के अधिग्रहण के लिए ₹9,861 करोड़ की बोली लगाई थी, जिसे बाद में एडमिनिस्ट्रेटर ने मंजूरी दे दी थी। बोली को क्रेडिटर्स (लेनदारों) से भी भारी सपोर्ट मिला था, जिसमें 99% वहीं, टोरेंट इन्वेस्टमेंट्स ने दिसंबर 2022 में रिलायंस कैपिटल की दिवालिया नीलामी के दौरान 8,640 करोड़ रुपए की पेशकश के साथ बोली लगाई थी।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नवंबर 2021 में रिलायंस कैपिटल में पेमेंट डिफॉल्ट और सीरियस गवर्नेंस इश्यू को देखते हुए बोर्ड को भंग करके बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को हटा दिया था। नवंबर 2019 में ट्रिब्यूनल ने कर्ज में डूबे फाइनेंसर के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने के लिए एक आवेदन की अनुमति दी थी।

रिलायंस कैपिटल, कस्टमर्स को फाइनेंस से जुड़ी करीब 20 सर्विसेस देती थी। कंपनी लाइफ इंश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी सर्विसेज उपलब्ध कराती थी। इसके साथ ही कंपनी होम लोन, कमर्शियल लोन, इक्विटी और कमोडिटी ब्रोकिंग जैसे सेक्टर में भी सर्विस देती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *