वारेन बफे ऐसे बने अमीर, जानिए उनके ये नियम, जिसका वो करते हैं पालन

मुंबई- दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर और बर्कशायर हैथवे के CEO वॉरेन बफे ने बर्कशायर हैथवे 2023 के शेयर होल्डर लेटर में अपने टाइम लैस इन्वेस्टमेंट प्रिंसिपल्स को बताया है। ये लेटर वॉरेन बफे ने अपने शेयर होल्डर्स के लिए जारी किया है।

इसमें इन्वेस्टमेंट के 15 प्रिंसिपल्स (नियम) बताए गए हैं। इसमें वॉरेन बफे कहते हैं कि ‘जब दूसरे लालची हों तो भयभीत रहें, और जब दूसरे भयभीत हों तो लालची बनें। बफे के नियमों का पालन करना बहुत जरूरी हो सकता है, अगर उनके जैसा निवेश करना है। उनके ये हैं प्रमुख नियम।

धैर्य फल देता है: शेयर बाजार को धैर्यवान व्यक्ति तक पैसा पहुंचाने के लिए डिजाइन किया गया है। लंबे समय की सोच-हमारी पसंदीदा होल्डिंग अवधि हमेशा के लिए होनी चाहिए। क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी पर ध्यान दें : एक सही कंपनी को अद्भुत कीमत पर खरीदने से बेहतर है कि एक अद्भुत कंपनी को सही कीमत पर खरीदा जाए। अपने निवेश को समझें: जोखिम यह न जानने से आता है कि आप क्या कर रहे हैं।

बिजनेस में निवेश करें, टिकर्स में नहीं : जब हमारे पास अच्छे मैनेजमेंट के साथ एक अच्छी कंपनी में हिस्सेदारी हो तो हमें इसे बेचना नहीं चाहिए।अपनी क्षमता के दायरे में बने रहें: आपको हर कंपनी या यहां तक ​​कि कई कंपनियों का विशेषज्ञ होने की जरूरत नहीं है। आपको सिर्फ अपनी क्षमता के हिसाब से कंपनियों का मूल्यांकन करने में सक्षम होने की जरूरत है।

ऋण से सावधान रहें: जब आप उधार लेकर निवेश करते हैं और आपको फायदा होता है तो इस पर किसी का ध्यान नहीं जाता है। लेकिन जब नुकसान होने लगता है तो सभी का ध्यान इसी पर होता है। ये आपको परेशानी में डाल सकता है। इसीलिए उधार लेने से बचना चाहिए।

ज्यादा डायवर्फिकेशन से बचें: पोर्टफोलियो को ज्यादा डायवर्ट करने की आवश्यकता केवल तभी होती है जब निवेशक यह नहीं समझते कि वे क्या कर रहे हैं। जब दूसरे लालची हों तो हमें डरा हुआ रहना चाहिए। वहीं जब दूसरे डरे हुए हों तो हमें लालची होना चाहिए।

आंतरिक मूल्य पर ध्यान दें: कीमत वह है जो आप चुकाते हैं। मूल्य वह है जो आपको मिलता है। बाजार के उतार-चढ़ाव पर ध्यान न दें: भगवान की तरह बाजार उन लोगों की मदद करता है जो अपनी मदद खुद करते हैं। लेकिन, भगवान के विपरीत, बाजार उन लोगों को माफ नहीं करता है जो नहीं जानते कि वे क्या करते हैं।

बाजार को समय न दें: हम बाजार में सक्रिय रहने कि तुलना में शांत रहकर इससे ज्यादा पैसे कमा सकते हैं। अपनी क्षमता के भीतर रहें: नियम नंबर 1: कभी पैसा न खोएं। नियम नंबर 2: नियम नंबर 1 को कभी न भूलें।

तर्कसंगत रहें: कम कीमतों का सबसे आम कारण निराशावाद है – हमें कंपनी या इंडस्ट्री के लिए कभी-कभी व्यापक नजरिया अपनाना चाहिए। विनम्र रहें और सीखते रहें: आपको हर स्थिति में विनम्र रहना चाहिए और हर स्टैप से कुछ न कुछ सीखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *