आरबीआई का आदेश, एनपीसीआई पेटीएम यूपीआई को दूसरे बैंकों से जोड़े

मुंबई- RBI ने पेटीएम की UPI सेवा को बरकरार रखने के लिए NPCI से कहा है कि वह पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस (One97 Communications) के अनुरोध की जांच करे।

इसके साथ ही आरबीआई ने कहा, NPCI पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर के तौर पर हाई वॉल्यूम के UPI ट्रांजैक्शन्स की क्षमता रखने वाले 4-5 बैंकों के सर्टिफिकेशन की सुविधा प्रदान करे। अगर NPCI की मंजूरी मिल जाती है, तो Paytm ऐप से UPI ट्रांजैक्शन बरकरार रहेगा। गौरतलब है कि RBI के निर्देश के मुताबिक, 15 मार्च से पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) बंद हो जाएगा।

ऐसे में पेटीएम को UPI ट्रांजैक्शन पहले के जैसा ही बिना रुकावट के बरकरार रखने के लिए थर्ड पार्टी एप्लिकेशन प्रोवाइडर (TPAP) बनना पड़ेगी, जिसकी सुविधा NPCI द्वारा अप्रूव्ड बैंक प्रदान करेगी। RBI ने अपने निर्देश में आगे कहा कि वन97 कम्युनिकेशंस के TPAP का स्टेटस देने के लिए, Paytm हैंडल को पेटीएम पेमेंट्स बैंक से NPCI द्वारा मंजूर किए गए नए बैंकों के एक समूह में बिना किसी बाधा के माइग्रेट किया जाना चाहिए।

RBI ने यह भी कहा कि TPAP द्वारा कोई नया यूजर तब तक नहीं जोड़ा जाना जाएगा जब तक कि सभी मौजूदा यूजर्स बेहतर ढंग से बिना किसी परेशानी के एक नए हैंडल पर माइग्रेट न हो जाएं। PayTM QR कोड का यूज करने वाले व्यापारियों (मर्चेंट्स) के लिए, वन97 कम्युनिकेशन्स लिमिटेड एक या ज्यादा पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर (PSP) बैंकों (पेटीएम पेमेंट्स बैंक के अलावा) के साथ निपटान खाते (settlement accounts) खोल सकती है।

RBI ने कहा कि ऊपर दिए गए UPI हैंडल का माइग्रेशन केवल ऐसे ग्राहकों और व्यापारियों पर लागू होता है जिनके पास UPI हैंडल ‘@Paytm’ है। दूसरे लोगों के लिए जिनके पास ‘@Paytm’ के अलावा कोई UPI आईडी या हैंडल है, उनको लेकर कोई बदलाव या कार्रवाई की जरूरत नहीं है।

इसका मतलब यह है कि ‘@paytm’ हैंडल को अन्य बैंकों में बिना किसी बाधा के स्थानांतरित करने के लिए एनपीसीआई भुगतान सेवा प्रदाता (PSP) के रूप में 4-5 बैंकों का सर्टिफिकेशन कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *